PM Poshan AbhiyanYojana 2022 | पीएम पोषण अभियान 2.0

PM Poshan Yojana 2022 | pm poshan abhiyaan 2.0 | pm poshan shakti nirman yojana | सही पोषण देश रोशन

PM Poshan Abhiyan 2.0 2022: हम सब जानते है कि भारत एक विकासील देश है, किसी भी विकासील देश में कुपोषण के केस बच्चो अक्सर पाए जाते है। इसका मुख्य कारण देश में से बहुत से ऐसे लोगों का अभी भी होना है, जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा से नीचे कर रहे है, जिनको दो वक्त का खाना नसीब नही होता है, ऐसे परिवार के बच्चो को कुपोषण बीमारी का शिकार होना पड़ता है। सरकार द्वारा पोषण अभियान के लिए सही पोषण देश रोशन टैगलाइन दी है।

Poshan Abhiyan

इसी बात को ध्यान में रखते हुए, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने समग्र पोषण योजना की शुरुआत करने का ऐलान किया हैं। इस पोषण अभियान के क्या-क्या बिंदु है, इस योजना के माध्यम से हम किस प्रकार देश को कुपोषण से मुक्त बना सकते है आदि के बारे में हमने इस आर्टिकल में बार की है। कृपया आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

पोषण अभियान (Poshan Abhiyan) क्या है?

पोषण अभियान केंद्र सरकार के महिला और बाल विकास डिपार्टमेंट की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है। इस योजना का उद्देश्य देश के गरीब परिवार के नवजात बच्चे से लेकर 6 वर्ष की आयु तक का कुपोषण अभियान के तहत विशेषकर ध्यान रखा जायेगा। योजना के अंतर्गत इन बच्चो के अंदर कुपोषण का कोई लक्षण ना हो इस बात को सुनिश्चित किया जायेगा। साथ ही साथ ऐसे गरीब परिवार जिनके पास दो टाइम का खाना प्रयाप्त नहीं है, उनके नवजात बच्चो को स्तनपान कराने वाली माताओं को भी पोषण योजना में शामिल किया गया है।

भारत सरकार द्वारा इस योजना का शुभारंभ 18 दिसंबर 2017 को किया था, जो पहले राष्ट्रीय पोषण अभियान के नाम से किया था। इस योजना के अन्तर्गत हर जिले में अलग अलग क्षेत्रों और पंचायतों में से उन कुपोषित बच्चों की पहचान की जाती है। इसके बाद पोषण योजना के तहत मिलने वाला लाभ इन कुपोषित बच्चों को दिया जाता है।

योजना का नामपीएम पोषण अभियान योजना
किसकी योजना है?केंद्र सरकार
विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग।
किसने शुरू कियाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
उदेश्यदेश में कुपोषण कम करना।
संबधित विभागमहिला और बाल विकास मंत्रालय
आधिकारिक वेबसाइट http://poshanabhiyaan.gov.in/

पोषण अभियान 2.0 का उद्देश्य

पोषण अभियान का मुख्य उद्देश्य है विभिन्न केंद्र सरकार के अगर अगर योजनाएं जैसे देश में चल रही आंगनवाड़ी सेवाओं, प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई मातृ वंदना योजना, किशोरियों के लिए चल रही अलग अलग प्रकार की योजना, साथ ही मां के लिए शुरू की गई जननी सुरक्षा योजना, उसके बाद हमारे स्वास्थ्य से सम्बंधित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, साफ सफाई से जुड़ा हुआ स्वच्छ भारत मिशन, पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन से जुड़ा हुआ सार्वजनिक वितरण प्रणाली, रोज़गार से सम्बंधित महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के साथ मिल कर अपनी सेवाएं प्रदान कर सकता है।

इस समय की प्रमुख पोषण नीतियों की बात करे तो वो प्रमुख रूप से माता सुरक्षा और स्तनपान से ही जुड़ा हुआ है। लेकिन सरकार को साथ ही साथ यह भी सोचने की काफी जरुरत है कि जिन बच्चों अपनी बढ़ती उम्र में है उन लोगो को भी पोषण किस प्रकार प्रदान किया जाए। सरकार का मानना है उसके लिए उन्हे यूनिसेफ स्वच्छ भारत, मिशन इन्द्रधनुष, टीकाकरण नीतियों और पोशन अभियान जैसी अलग अलग नीतियों और योजनाओं पर सरकार के साथ मिल कर काम करना चाहिये।

पोषण अभियान के अन्तर्गत आने वाली विभिन्न गतिविधि

पोषण अभियान के अन्तर्गत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम को जोड़ा गया है। पोषण अभियान के अन्तर्गत कहीं कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, इन कार्यक्रमों से समाज में जागरूकता आती है, एवं इस योजना का अधिक प्रचार प्रसार होता है, जिससे कोई भी पात्र महिला या बच्चा इस योजना का लाभ लेने से वंचित न रह जाए। विवरण निम्न है –

  • एनीमिया से जुड़ी जानकारी देने के लिए कैंप लगाना।
  • डिफाइट डायरिया अभियान चलाना।
  • नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक करना।
  • स्कूलों में मिड डे मील की सुविधा उपलब्ध करवाना।
  • एनजीओ को सरकार के साथ काम कर काम करना।
  • स्कूलों में साफ पीने के पानी की व्यवस्था करवाना।
  • पंचायत के बैठक में इन योजनाओ से जुड़ी हुई, चीजों के बारे में बात करना।
  • अधिक से अधिक बच्चो को आंगनवाड़ी केंद्रों से जोड़ना।
  • आंगनवाड़ी केंद्र के अंदर भी साफ पीने के पानी की व्यवस्था करवाना।

पोषण माह क्या है?

पोषण माह को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है देश के अंदर पोषण के बारे में अधिक से अधिक लोगो तक सरकार की बाते को पहुंचना और जागरूकता को फैलाना। साथ ही साथ परिवारों में अपने बच्चो और गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए पोषण का इंतजाम करना और साथ साथ सरकार की जितनी भी सेवाएं होती है उनकी सहायता से लोगो की सहायता करना।

देश के अंदर कुपोषण को मिटाने के लिए राष्ट्रीय तौर पर राष्ट्रीय पोषण महीना का शुभारंभ किया जाता है। पीएम मोदी चाहते है कि सभी बच्चे जो अभी जन्म ले रहे है वो  भारत की औसतन लम्बाई और वजन तक पहुंच जाए और कुपोषण को देश से जड़ से खत्म करने के लिए इतनी जागरूकता फैलाए की कोई भी बच्चा कुपोषित ना रह पाए। इस पोषण महीना से हमारी नारी शक्ति और युवा शक्ति दोनो को ही बेहद लाभ मिलेगा।

पोषण अभियान कार्यान्वयन और लक्ष्य

  • पोषण अभियान संबधित कार्यों को जमीन उतारने के लिए स्तर पर निगरानी व क्रियान्वयन के लिए Monitoring and Convergence Action Plan पर आधारित होगा।
  • भारत सरकार द्वारा पोषण अभियान को तीन चरणों 2017-18, 2018-19 व 2019-20 में शुरू किया गया है।
  • सरकार द्वारा पोषण अभियान के लिए कुछ लक्ष्य भी निर्धारित किये है, जो इस प्रकार है –
    • प्रति वर्ष स्टंटिंग को दो प्रतिशत तक कम किया जायेगा।
    • सभी को खाना उपलब्ध करवाना अथवा अल्प पोषण के मामले में दो प्रतिशत की कमी करना।
    • छोटे बच्चों, महिलाओं व किशोरों में एनीमिया के मामलों में तीन प्रतिशत तक की कमी लाना।
    • नवजात शिशुओं में होने वाली कम वजन की समस्या को 2 प्रतिशत तक कम करना।
  • पोषण अभियान के अंतर्गत वर्ष 2022 तक स्टंटिंग को 38 प्रतिशत से 25 प्रतिशत लाने का प्रयास करना।

पीएम मोदी पोषण अभियान के लिए ऑनलाइन आवेदन किस प्रकार करे? 

पीएम मोदी द्वारा शुरु किए गए पोषण अभियान के लिए आप ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते है। इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको http://poshanabhiyaan.gov.in की वेबसाइट पर जाना होगा।

  • वहां पर आपको इस पोषण योजना से जुड़ा हुआ एक आवेदन पत्र भरने का विकल्प दिखेगा आपको इसको भर के जमा करना होगा।
  • उस पत्र में आपसे आपके बच्चे या उनकी मां से जुड़ी जानकारी पूछी जाएगी आपको उनको भर के जमा करना होगा।

पोषण अभियान पोर्टल पर मॉनिटरिंग एडमिन लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • पोषण अभियान मॉनिटरिंग एडमिन लॉगिन के लिए सबसे पहले पोषण अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • होम पेज पर monitoring विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आप पोषण अभियान के नए पेज पर आ जायेंगे।
  • यहां पर लॉगिन एडमिन को अपना यूजर आईडी व पासवर्ड डालना होगा।
  • इसके बाद नीचे ENTER विकल्प पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार आप पोषण अभियान मॉनिटरिंग के डेशबोर्ड में लॉगिन हो जायेंगे।

पोषण अभियान पोर्टल पर ब्लॉक फोटो गैलरी कैसे देखें?

प्रधानमंत्री पोषण अभियान पिछले दो – तीन सालों से देश भर में चलाया जा रहा है, इस दौरान मेमोरी के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत व ब्लॉक में कुछ तस्वीरें भी ली गयी है। आप अपने ब्लॉक से संबधित फोटो गैलरी इस पोर्टल पर देख सकते है। देखने की प्रक्रिया निम्न है –

  • सबसे पहले इसके आधिकारिक वेबसाइट के पोर्टल पर जाएँ।
  • पोषण अभियान पोर्टल के होम पेज पर गैलरी विकल्प पर क्लिक करें।
Poshan Abhiyan
  • नए पेज पर राज्य, जिला व अपना ब्लॉक चुने।
  • इसके बाद submit बटन पर क्लिक करें।
Poshan Abhiyan
  • आपके सामने पोषण अभियान से संबधित आपके ब्लॉक की फोटो दिखाई देगी।

F.A.Q

पीएम मोदी पोषण अभियान क्या है?

पोषण अभियान केंद्र सरकार के  महिला और बाल विकास डिपार्टमेंट के एक जरुरी योजना में से एक है। इस योजना के मुख्य उद्देश्य है कि हमारे देश में पल रहे बच्चे जिनका जन्म अभी हुआ है से लेकर जिनकी उम्र 6 वर्ष तक है, उन बच्चो के अंदर कुपोषण की कोई शिकायत ना हो। साथ ही साथ वो मां जो इन बच्चो को  स्तनपान कराने वाली मां है उनके पोषण में भी किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं होनी चाहिए।

पोषण माह क्या है?

पोषण महीना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है देश के अंदर पोषण के बारे में अधिक से अधिक लोगो तक सरकार की बाते को पहुंचना और जागरूकता को फैलाना। 

पोषण योजना की शुरुवात कब हुई थी?

पीएम मोदी द्वारा पोषण योजना की शुरुवात 18 दिसंबर 2017 को की गई थी।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!