कुसुम फ्री सोलर पैनल योजना 2023 | Solar Panel Yojana Benefits, Eligibility

Solar Panel Yojana in Hindi | कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | कुसुम योजना आवेदन | कुसुम योजना टोल फ्री नंबर | फ्री सोलर पैनल रजिस्ट्रेशन | इस आर्टिकल में हमने Pradhan Mantri Solar Panel Yojana के बारे में बात की है। केंद्र सरकार द्वारा देश के दुरस्त ग्रामीण क्षेत्रों तक स्वच्छ व सस्ती बिजली पहुँचाने के लिए, प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा फरवरी 2019 में की गयी थी। वर्ष 2015 में हुए पेरिस जलवायु समझौते में अपनी प्रतिबध्दता को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2030 तक 40 प्रतिशत तक गैर जीवाश्म ईंधन का लक्ष्य हासिल करना है।

Solar Panel Yojana

सरकार द्वारा इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कहीं नीतिगत उपाय बनाये है, कुसुम योजना भी उसी में से एक है। कुसुम योजना शुरू करने के सरकार के उदेश्य किसानों को पानी हेतु सोलर पंप व विद्युत ऊर्जा व आमदनी बढ़ाने, पर्यावरण प्रदुषण को कम करना व खेती को पूर्णतः डीजल मुफ्त करना है। दोनों सरकार का लक्ष्य कृषि क्षेत्र को का मुख्य उदेश्य छोटे और बड़े किसानों को सोलर पैनल द्वारा बिजली उपलब्ध करवाना है।

जिसके दो लाभ होंगे एक पानी के ट्यूबबेल को हर समय विजली मिलेगी और बची हुई बिजली को किसान बेच भी सकेंगे। अगर आप भी प्रधान मंत्री सौर योजना का लाभ लेना चाहते हैं, एवं अपने घर को रोशन करना चाहते हैं, तो आपको नीचे बताई गई प्रक्रिया को अपनाना होगा। कृपया लेख को पूरा पढ़े। किसान भाइयो आप कम से कम लागत पर सौर पैनल योजना (Solar Panel Yojana) का लाभ उठा सकते हैं, इसके अलावा, आपको नवीकरणीय ऊर्जा (रिन्यूएबल एनर्जी) हेतु सब्सिडी भी दी जाती है। आजकल सरकार सौर ऊर्जा पर वह इलेक्ट्रिक से चलने वाहनों पर भी भारी छूट देती है।

कुसुम योजना सोलर पैनल योजना 2023

PM सोलर पैनल योजना यानि कुसुम योजना को नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया। इस योजना के द्वारा सोलर पंप से सिंचाई की व्यस्था की जाएगी, विद्युत ऊर्जा, पर्यावरण प्रदुषण कम होगा, खेती को डीजल से मुफ्त किया जा सकेगा, किसानों की आय को दुगुना किया जा सकेगा। इस योजना के तहत अब तक तीन लाख से अधिक सोलर पंप की मंजूरियां मिल चुकी है, जबकि लगभग एक लाख सोलर पंप लग। हालाँकि सरकार द्वारा इस योजना के लिए 10 लाख किसानों को लाभ पहुँचाने का लक्ष्य रखा है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana Overview

Scheme NamePradhan Mantri Solar Panel Yojana
Launched byIndia Government
DepartmentMinistry of New and Renewable Energy
StatusActive
Cost of SchemeRs 10000 crore
BeneficiaryFarmers of the Country
The time duration of Scheme10 Years
Official websitehttps://mnre.gov.in/
टोल फ्री नंबर / हेल्पलाइन नंबर1800-180-3333 / 011-2436-0707, 011-2436-0404

कुसुम सोलर योजना प्रगति (Progress)

मुख्यतः किसानों पर केंद्रित पीएम कुसुम योजना को केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2019 में शुरू किया गया था। जिसकी मार्च 2022 तक की प्रगति लोक सभा में एक सदस्य के लिखित उत्तर के अनुसार निम्न है- मार्च 2022 तक कुसुम योजना के तहत कुल 359462 सोलर पंप स्टेंडअप लोन स्वीकृत किये गए, जिनमे से फरवरी 2022 तक मात्र 82408 (23%) सोलर पंप लगाए (स्थापित) किये गए है।

प्रधान मंत्री सौर पैनल योजना हेतू महत्वपूर्ण दस्तावेज

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए दस्तावेजों की सूचि निम्न है-

  • आधार कार्ड।
  • पैन कार्ड।
  • डर्केलरेशन पत्र।
  • बैंक पासबुक।
  • पासपोर्ट आकार का फोटो। 
  • एक किसान की भूमि का पूरा विवरण खतौनी आदि। 
उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा सहायता योजना।

Benefits of Prime Minister Solar Panel Scheme 2023

  • किसानो द्वारा सोलर सिंचाई पंप उपलब्ध होने से पेट्रोलियम ईंधन की लागत कम हो जाएगी।
  • किसानो द्वारा अपने उपभोग के बाद बची बिजली सीधे सरकार को बेच सकेंगे।
  • प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना से ऐसे किसानों को अतिरिक्त आय प्रदान होगी जो अपनी जमीन पर सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करेंगे। 
  • इस योजना से प्रतिमाह 6000 रुपये तक ट्रांसफर किये जायेगे |
  • सोलर प्लांट के नीचे किसान आसानी से सब्जियां इत्यादि उगा सकेंगें।

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana के उद्देश्य

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana का उद्देश्य देश के सभी किसानों को बिजली की समस्या से छुटकारा दिलाना है। उन्हें सशक्त बनाना तथा उनकी आय के अतिरिक्त विकल्प उपलब्ध कराना है, यह योजना निश्चित रूप से देश के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने में तथा उनकी आय को दोगुना करने में काफी मददः करेगी।

सिंचाई के लिए उपयोग में आने वाले पेट्रोल और डीजल का खर्च भी कम करेगी, इसके साथ ही साथ अतिरिक्त मासिक खर्च को कम करना एवं अतिरिक्त आय का साधन भी उपलब्ध कराना है। बताया जाता है कि यदि आप अपनी 5 एकड़ जमीन पर 1 मेगा वाट का सोलर प्लांट लगायेंगे, तो आपको बिजली कंपनियों द्वारा 30 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से भुगतान किया जाएगा तथा 1 वर्ष में 1 मेगा वाट का सोलर प्लांट 11 लाख यूनिट बिजली उत्पन्न की जाएगी। 

उत्तराखंड सोलर वाटर हीटर योजना

इन सभी सेवाओं से Pradhan Mantri Solar Panel Yojana के तहत किसानों को लाभ मिल सकता है, हाल ही में केंद्र सरकार ने कुसुम योजना की सुचारू रूप से शुरू करने के लिए किसानों को 48 हजार करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। इस योजना के तहत, 10000 मेगावाट के सौर संयंत्र ऐसे बंजर भूमि पर स्थापित किए जाएंगे जहाँ खेती करना संभव नहीं है। 

अपने खेतों में सोलर प्लांट, फिर वह इन सोलर प्लांट्स के तहत छोटे फलों जैसे आलू की फसल आदि की खेती भी कर सकते हैं। बंजर जमीन में इस सोलर प्लांट को स्थापित करने से किसानों को कम से कम कीमत पर बिजली उपलब्ध हो सकेगी, जिससे किसानों की उपज को बेहतर बनाया जा सके।

कुसुम योजना के लिए विभिन्न राज्यों के ऑनलाइन आवेदन फार्म

राज्य आवेदन फार्म
Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश)यहां क्लिक करें
Uttar Pradesh (उत्तर प्रदेश)यहां क्लिक करें
Punjab (पंजाब)यहां क्लिक करें
Haryana (हरियाणा)यहां क्लिक करें
Rajasthan (राजस्थान)यहां क्लिक करें
Maharashtra (महाराष्ट्र)यहां क्लिक करें

कुसुम योजना पंजीकरण कैसे करें?

अगर आप भी Pradhan Mantri Solar Panel Yojana या कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको निम्नलिखित प्रक्रिया अपनानी होगी। इस योजना से संबंधित आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ। इसके बाद यहां दी गई सभी पात्रता और जानकारी के बारे में ध्यान से पढ़ें। फिर मंत्रालय और नवीकरणीय ऊर्जा द्वारा निर्धारित नियमों का पालन करें और इस योजना का लाभ लेने के बारे में सभी नियमों को पूरा करें।

इलेक्ट्रिक डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों और नोडल एजेंसियों और एमएनआरई ने इस योजना को लागू किया है जिसके लिए जल्द ही विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। सौर प्रणाली की स्थापना के लिए कितनी प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है, भारत सरकार में, केंद्र और राज्य सरकारों ने निर्णय लिया है ,सोलर पैनल या सोलर प्लांट पर अलग-अलग शहर बसाने के लिए, 

जिसमें आपको सौर ऊर्जा से चलने वाले उपकरणों पर सब्सिडी दी जाती है, यह शहर 20 प्रतिशत से 30 प्रतिशत तक हो सकता है।  यह राज्य सरकार है जो विभिन्न निर्धारण करती है।

 अगर आप भी भारत सरकार द्वारा प्राप्त की जा रही सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं और सोलर प्लांट प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को अपनाना होगा। सोलर पैनल किस प्रकार के हैं और हमें कौन सा सोलर सिस्टम लगाना चाहिए तो हम आपको बता दें कि दो प्रकार के सौर पैनल होते हैं और आप इनमें से किसी भी प्रकार के सौर पैनल स्थापित कर सकते हैं, बशर्ते ये सौर पैनल अलग-अलग क्षेत्रों के अनुसार डिजाइन किए गए हों। सॉलर पैनल एक पॉलीक्रिस्टल और मोनोक्रिस्ट बाजार में उपलब्ध हैं। 

अटल पेंशन योजना

सौर संयंत्र दो प्रकार के होते हैं

  • ऑफ ग्रिड सोलर प्लांट (Off grid solar plant)
  • ऑन-ग्रिड सोलर प्लांट  (On-grid solar plant)

ऑफ-ग्रिड सोलर प्लांट:-  सौर ऊर्जा में, ऊर्जा बैटरी द्वारा संग्रहीत की जाती है और बिजली जाने पर इसका उपयोग किया जाता है  बाहर या इसका उपयोग तब किया जाता है जब सूरज की रोशनी निकलती है।

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं?

ऑन-ग्रिड सौर प्रणाली के बारे में बात करते हैं:- यहाँ आप सूरत से आने वाली बिजली को सीधे एसी में बदल सकते हैं या इसे सीधे उपयोग कर सकते हैं या रात को इलेक्ट्रिक को भेजा जाता है  नगर विभाग, ताकि  कुछ पैसे आप इसे कमा सकते हैं या जब तक आपके पास सूरज की रोशनी है, आप राज्य सरकार को बिजली भेजते हैं और जब आप कट जाते हैं या आपके पास बिजली नहीं होती है, तो रात में सरकार बिजली प्रदान करती है और इसमें किसका बिल बकाया है  कुसुम सौर पंप योजना लागू करें।

कुसुम योजना की ग्रीवेंस (शिकायत) कैसे दर्ज करें?

कुसुम सोलर योजना से संबधित यदि आपको कोई समस्या आ रही है, तो आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज आकर सकते है। ग्रीवेंस दर्ज करने के लिए आपको नीचे दिए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • कुसुम योजना से संबधित ऑनलाइन ग्रीवेंस दर्ज करने के लिए आपको पहले कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर आने के बाद आपको Public Grievances & Complaint Redressal Mechanism विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Solar Panel Yojana
  • आपके सामने अब नए वेब पेज में ग्रीवेंस फॉर्म खुल जायेगा। फॉर्म में आपको नाम, ईमेल आईडी, पता व लोकेशन विवरण देना होगा, एवं नीचे ग्रीवेंस डिटेल्स में अपनी समस्या को लिखें, व नीचे सबमिट बटन को दबा दें।
Solar Panel Yojana
  • इस प्रकार कुसुम योजना से संबधित आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी।

कुसुम योजना के लिए फीडबैक कैसे दें?

  • कुसुम सोलर योजना से संबधित फीडबैक देने के लिए आपको पहले इसके ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज आने के बाद आप फीडबैक विकल्प पर क्लिक कर दें।
Solar Panel Yojana
  • आपके सामने अब फीडबैक फॉर्म ओपन हो जायेगा, आपको यहां पर अपना नाम, ईमेल आईडी, पता व लोकेशन भरें।
  • इसके बाद नीचे फीडबैक कॉलम में अपना योजना से संबधित फीडबैक दें, व सबमिट बटन दबा दें।
Solar Panel Yojana
  • इस प्रकार कुसुम योजना से संबधित आपका फीडबैक सबमिट हो जायेगा।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश

राजस्थान के किसान करेंगें बिजली की खेती

राजस्थान सरकार द्वारा Solar Agriculture livelihood Mission के तहत किसानों की बंजर जमीन पर जहाँ पर वर्तमान में कुछ भी नहीं उगाया जा रहा है, यानि किसी काम की नहीं है। ऐसी जमीन को राजस्थान सरकार द्वारा किसानों से लीज पर ली जाएगी। किसानों की बंजर पड़ी इस जमीन को सरकार द्वारा लीज पर लिए जाने से उनकी अच्छी इनकम हो जाएगी। राजस्थान सरकार इन बंजर जमीन पर सोलर प्लांट लगवाएगी, जिससे बिजली की कमी को पूरा किया जा सकेगा। इसके अलावा किसनों को भी इसका लाभ मिल पायेगा। यह केंद्र की पीएम कुसुम योजना की तरह ही सौर / ग्रीन ऊर्जा की और बढ़ावा देने की भी मुहीम है।

निष्कर्ष

हमने Pradhan Mantri Solar Panel Yojana के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने की कोशिश की। इसमें इसके क्या-क्या लाभ है, इसे कैसे स्थापित किया जाता है, यह देश हित के लिए कितना जरुरी है, मै आशा करता हूँ, कि इस लेख से आपको प्रधान मंत्री सौर पैनल योजना की पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी, यदि आपको जानकारी पसंद आयी हो तो अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करे और इस लेख से जुड़ा कोई भी सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करे, धन्यवाद।

FAQ

कुसुम योजना क्या है ?

PM सोलर पैनल योजना या कुसुम योजना को भारत सरकार द्वारा किसानों के लिए शुरू किया गया है। इसका उदेश्य सरकार द्वारा सभी किसानों की आय को 2022 तक दोगुना करना है। योजना के द्वारा लगभग 10 लाख किसानो को लाभ दिए जाने की योजना है। कुसुम योजना किसानों के लिए शुरू की गयी है, इस योजना में किसानों को मुफ्त में सोलर सेट वितरत किया जायेंगे।

पीएम कुसुम (PM-KUSUM) योजना की फुल फॉर्म क्या है?

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की फुल फॉर्म या पूरा नाम Pradhan Mantri Kisan Urja Suraksha and Utthan Mahabhiyan (PM-KUSUM) है। जिसे हिंदी में प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाभियान कहा जाता है।

ये भी पढ़ें – मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना

24 thoughts on “कुसुम फ्री सोलर पैनल योजना 2023 | Solar Panel Yojana Benefits, Eligibility”

  1. सिंचाई हेतु सोलर पंप7.5hp लगवाना है एवं घर उपयोग हेतु लाइट के लिए सोलर लगवाना है

    Reply
  2. मला एक एकर जमीन आहे. जमीन वडीलांच्या नावावर आहे. तरि मला बोरवेल साठी सोलर पॅनेल मिळावा अशी विनंती आहे.

    Reply
  3. File or डीडी जमा कर रखा गया है 3माह से शक्ति कम्पनी के फिर भी अभी तक नहीं पहुंच पाया सामान

    Reply

Leave a Comment