समग्र शिक्षा अभियान 2022 | Samagra Shiksha Abhiyan 2.0 Login Procedure

Samagra Shiksha Abhiyan 2.0 कार्यान्वयन, लाभ, ऑनलाइन | समग्र शिक्षा Login प्रक्रिया व पात्रता, Samagra Shiksha Abhiyan: दोस्तों, हमारे देश की सरकार हमेशा से शिक्षा के प्रति जागरूक रही है। यही कारण है कि हमारे देश में गरीब परिवार के बच्चों और युवाओं को शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा कई प्रकार की योजनाओं को शुरू किया गया है। समग्र शिक्षा अभियान इन्हीं योजनाओं में से एक है।

samagra shiksha abhiyan

सरकार द्वारा शिक्षा के स्तर को और भी ज्यादा बेहतर बनाने के लिए इस एकीकृत योजना की शुरुआत की गई है। Samagra Shiksha Abhiyan 2.0 के द्वारा हमारे देश की शिक्षा नीति में कई तरह के बदलाव किए गए है। आज के लेख में हम आपको समग्र शिक्षा अभियान 2.0 से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियां देने वाले है ।

समग्र शिक्षा अभियान 2.0 क्या है?

केंद्र सरकार के द्वारा देश के बच्चों की दक्षता बढ़ाने एवं स्कूली शिक्षा के लिए समग्र शिक्षा अभियान 2.0 की शुरुआत की गई है। इस अभियान के द्वारा प्राथमिक स्कूल से लेकर 12th क्लास के सभी आयामों को सम्मिलित किया गया है। SSA 2.0 के माध्यम से आने वाले सालों में स्कूलों में Smart Class, प्रशिक्षित शिक्षक , बाल वाटिका और डिजिटल बोर्ड जैसी आधुनिक सुविधाएं व्यवस्थित की जाएगी। 

इस योजना के माध्यम से बच्चों की शिक्षा के विकास हेतु कार्य किये जाएंगे। इस योजना के तहत केंद्र विद्यालयों में पढ़ाई करने वाले दिव्यांग विद्यार्थियों को प्रत्येक महीने 200 की राशि प्रदान की जाएगी। इसके अलावा स्कूलों में कक्षा पांचवी तक के छात्रों को खेल की सामग्री के लिए 5 हजार रुपये, कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों को 10 हजार रुपये और 12वीं के छात्रों को 15 हजार रुपये प्रदान किये जाएंगे।

समग्र शिक्षा अभियान 2.0 के उद्देश्य

जैसा कि हम सभी जानते है कि केंद्र सरकार के नई शिक्षा नीति के अनुसार शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सारे बदलाव किए गए है ताकि बच्चों के लिए शिक्षा को और भी आसान और बेहतर बनाया जा सके। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना को मार्च वर्ष 2026 तक कार्यान्वित किया जाएगा। इस शिक्षा अभियान का उद्देश्य हमारे देश के बच्चों को प्राथमिक कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक सामान रूप से समावेशी वातावरण प्रदान करना है ताकि विद्यार्थियों के व्यवसायिक शिक्षा और कौशल पर पूर्ण रूप से ध्यान दिया जा सके। 

इस अभियान के जरिये हमारे देश की शिक्षा नीति को और भी अधिक बेहतर बनाया जाना सम्भव हो सकेगा। इस योजना के द्वारा स्कूलों के बुनियादी शिक्षा के स्तर में सुधार लाया जा सकेगा। इसके साथ ही साथ समग्र शिक्षा अभियान 2.0 के माध्यम से  वर्चुअल एवं स्मार्ट क्लास रूम, डिजिटल बोर्ड, आईटी लैब, रचनात्मक शैक्षणिक विधि और व्यवसायिक शिक्षा का प्रावधान किया जाएगा। इस योजना का उद्देश्य देश मे शिक्षा के स्तर में वृद्धि करना है ताकि बच्चे शिक्षित होकर आत्मनिर्भर बन सकें।

समग्र शिक्षा अभियान 2.0 संक्षिप्त विविरण

योजना का नामसमग्र शिक्षा अभियान 2.0
किसने शुरू कीभारत सरकार
संबधित मंत्रालय शिक्षा विभाग।
लाभार्थीदेश भर के छात्र।
योजना का उद्देश्यशिक्षा के स्तर में सुधार करना
आधिकारिक वेबसाइटhttp://samagrashiksha.in/
साल2022

Samagra Shiksha Abhiyan 2.0 के लाभ

  • समग्र शिक्षा अभियान 2.0 की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा की गई है।
  • SSA 2.0 के अंतर्गत देश की शिक्षा नीति को बेहतर बनाया जाएगा।
  • इस शिक्षा अभियान को SDG -4 (सतत विकास लक्ष्य) से एवं National Education Policy 2020 को साथ मिलाकर एक नया आयाम देने की कोशिश की गई है।
  • इस योजना के अंतर्गत बच्चों को शिक्षा में काफी लाभ मिलेगा एवं प्राथमिक कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक शिक्षा के लिए एक सामान समावेशी कक्षा वातावरण प्रदान किया जाएगा।
  • बच्चों के लिए शिक्षा व्यवस्था को और भी अधिक बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा इस अभियान को कार्यान्वित करने के लिए 2.94 लाख करोड़ रूपयों को खर्च करने का प्रावधान किया गया है। 
  • इस योजना के माध्यम से 5 वर्षों में सभी स्कूलों को आईसीटी से जोड़ा जाएगा। जिसके तहत स्मार्ट क्लास रूम, डिजिटल बोर्ड आदि की व्यवस्था किये जाने का प्रावधान है।
  • इस योजना के अंतर्गत लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु KGBV यानी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय वर्ष 2004 से ही संचालित किए जा रहे है।
  • इस शिक्षा अभियान के तहत केजीबीवी विद्यालयों को  अपग्रेड करते हुए कक्षा छठवीं से लेकर आठवीं के स्थान पर कक्षा छठवीं से लेकर कक्षा बारहवीं तक संचालित किए जाने का प्रावधान है। 
  • इसके साथ ही साथ KGBV की छात्राओं को सेल्फ डिफेंस के लिए ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत क्षेत्रीय संतुलन बनाये रखने के लिए LWE प्रभावित जिलें, शैक्षिक रूप से पिछड़े ब्लॉक, सीमावर्ती क्षेत्र और आकांक्षात्मक जिलों को खास महत्व प्रदान किया जाएगा।
  • इसके अंतर्गत छात्रों को उच्च प्राथमिक स्तर से ही व्यावसायिक कौशल विकास का प्रशिक्षण देने का प्रावधान है। 
  • इस योजना के तहत स्कूलों में कार्यशील पुस्तकालय भी संचालित किए जाएंगे । 
  • Samagra Shiksha Abhiyan 2.0 के अंतर्गत जनपद स्तर पर DIET एवं राज्य स्तर पर SCERT की मुख्य भूमिका होगी।
  • SSA 2.0 के अंतर्गत प्रशिक्षण संस्थाओं को और भी अधिक सुदृढ़ बनाया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से करीबन 15.6 करोड़ बच्चों, 11.6 लाख स्कूल एवं 57 लाख शिक्षकों को लाभ की प्राप्ति होगी।
  • इस योजना को 1 अप्रैल 2021 से लेकर 31 मार्च 2026 तक कार्यान्वित किया जाएगा।
  • इस अभियान के माध्यम से शिक्षक पाठ्य सामग्री भी तैयार की जाएगी। जिसके तहत प्रत्येक छात्र के लिए 500 रुपयों की  राशि तय की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से छात्रों को 6000 रुपयों की परिवहन सुविधा राशि प्रतिवर्ष प्रदान की जाएगी।
  • इसके अलावा समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत शिक्षकों को उच्च प्रशिक्षण देने के लिए अलग अलग तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित किये जायेंगे।

यूपी स्कालरशिप योजना

अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना

समग्र शिक्षा अभियान 2.0 के अंतर्गत पोर्टल लॉगिन करने का प्रोसेस

  • इसके लिए आवेदन करने वाले को सबसे पहले समग्र शिक्षा अभियान की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा या फिर आप दिए गए लिंक http://samagrashiksha.in/ पर भी क्लिक कर सकते है।
  • इसके होम पेज पर आपको लॉगिन टैब दिखेगा, जिस पर आपको क्लिक कर लेना है और अपनी लॉगिन आईडी और पासवर्ड को दर्ज कर लेना होता है।
samagra shiksha abhiyan
  • अब लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक कर लें।
  • इस प्रकार आप Samagra Shiksha Abhiyan पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे। 

Conclusion 

आज के आर्टिकल में हमनें आपको समग्र शिक्षा अभियान 2.0 (Samagra Shiksha Abhiyan) से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारियां देने का प्रत्यन किया है। हम उम्मीद करते है कि आपको हमारा यह लेख अवश्य ही पसंद आया होगा।

FAQ: समग्र शिक्षा अभियान 2.0

प्रश्न 1. समग्र शिक्षा अभियान को कब शुरू किया गया है?

उत्तर: समग्र शिक्षा अभियान 4 अगस्त 2021 को शुरू हुआ है।

प्रश्न 2. इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा कितनी राशि दी जाएगी?

उत्तर: इस योजना के कार्यान्वयन के लिए 2.94 लाख करोड़ रुपये खर्च किये जाएँगे।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!