कर्मचारी भविष्य निधि संगठन – 2022 | EPFO UAN Passbook Login | Benefit & Statement Download |

EPFO login in hindi | uan login | EPFO Member Portal login | कर्मचारी भविष्य निधि हेल्पलाइन नंबर | ईपीएफओ पोर्टल लॉगिन कर्मचारी | epfindia.gov.in | कर्मचारी भविष्य निधि संगठन फॉर्म | epf passbook login | uan passbook login |

ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन): यह विश्व का सबसे बड़ा सामाजिक सुरक्षा संगठन है, जिसकी स्थापना 15 नवंबर 1951 के कर्मचारी भविष्य निधि अध्यादेश के द्वारा 4 मार्च 1952 को की गयी थी। यह कर्मचारियों के रेटायर्मेंट फण्ड को मैनेज करता है। EPFO के पास किसी भी नियोक्ता (employer) या कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों की मासिक सैलरी का कुछ हिस्सा (शेयर) जमा करवाया जाता है।

कर्मचारी के रिटायर होने पर जमा राशि का कुछ हिस्सा उन्हें एकमुश्त दे दिया जाता है, एवं शेष राशि उन्हें पेंशन के रूप में प्रति माह दी जाती है। EPFO की वार्षिक रिपोर्ट 2019-2020 के अनुसार इसमें लगभग 25 लाख करोड़ खाते संचालित हो रहे है। जिनका संचालन / रखरखाव कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) द्वारा किया जा रहा है।

EPFO login

वर्तमान में EPFO में ज्यादातर प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के खाते संचालित हो रहे है। क्यूँकि ज्यादातर सरकारी विभाग अपने कर्मचारियों का पेंशन फण्ड नेशनल पेंशन स्कीम / नई पेंशन स्कीम में जमा करवाते है, जिसका रखरखाव / देखरेख CDSL (Central Depository Services (India) Limited) द्वारा की जाती है।

वर्तमान में EPFO मुख्यतः निजी क्षेत्र के छोटे कामगारों / कर्मचारियों के पेंशन फण्ड का रखरखाव व संचालन करता है। क्यूंकि हमारे देश में लाखो ऐसे युवा ऐसे है, जो प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करते है। उन्हें सरकार की ओर से कोई विशेष सुविधाएं व लाभ नहीं दिए जाते है। परन्तु हर वह कर्मचारी जो प्राइवेट नौकरी करता है, उन सब के लिए EPFO सबसे ज्यादा जरुरी होता है। क्यूंकि यह उनके आने वाले समय के लिए सामाजिक सुरक्षा प्रदान करता है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन – 2022

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन को सामान्यतः EPF या EPFO नाम से ही जाना जाता है। इस लेख में हम ईपीएफओ के बारे में सभी बिन्दुओ के बारे में जानने की कोशिश करेंगे। जैसे – कोई भी कर्मचारी अपने भविष्य निधि खाते की जानकारी कैसे कर सकता है, कर्मचारी भविष्य निधि पेंशन योजना 1995 क्या है, या इसमें हम लॉगिन कैसे करें आदि। कृपया आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

EPFO संक्षिप विवरण – 2022

संगठन का नाम कर्मचारी भविष्य निधि संगठन
किसने शुरू किया भारत सरकार द्वारा।
स्थापना 4 March 1952
उदेश्य छोटे कर्मचारियों को पेंशन से साथ सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइट https://epfindia.gov.in/
EPFO Full Form Employees provident fund organisation
टोल फ्री नंबर 1800118005

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन मुख्यतः पेंशन योजना को संचालित करने के लिए बनाया गया एक सामाजिक सुरक्षा संगठन है। EPFO का पूरा नाम Employee provident funds Organisation है। इसके साथ ही EPF भारत में एक रिटायरमेंट फण्ड बॉडी भी है। यह ऐसे कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा प्रधान करता है, जो मासिक सैलरी पा रहे है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की स्थापना 04 मार्च 1952 को की गई थी। वर्तमान में इस संगठन का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इस संगठन पर पूर्णतः केंद्र सरकार का नियंत्रण / कण्ट्रोल है। EPF को हम हिंदी में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के नाम से भी जानते है।

अटल पेंशन योजना क्या है?

EPFO क्या है?

EPFO का पूरा नाम कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees provident fund organisation) है। यह मुख्यतः निजी क्षेत्र में कार्य करने वाले कामगारों के रिटायरमेंट फण्ड की प्लानिंग करता है। कोई भी नियोक्ता अथवा employer अपने कर्मचारियों के प्रति महीने मिलने वाली सैलरी का कुछ अंश (प्रतिशत) EPFO के पास जमा करता है। जमा फण्ड पर कर्मचारियों को बैंक से उच्च दरों पर ब्याज दिया जाता है।

यह संगठन कर्मचारियों के फण्ड को सुनियोजित रूप से मैनेज करता है। इसके साथ ही देश में जो भी मजदूर या कम सैलरी और प्राइवेट काम करते है, उन्हें एक सामाजिक सुरक्षा प्रदान करता है। सरकारी नियम तो यह कहते है की अगर किसी कंपनी में 20 से अधिक कर्मचारी है, तो उस कंपनी को खुद को EPF में रजिस्टर करवाना आवश्यक होता है।

EPFO की Full Form क्या है?

EPFO की फुल फॉर्म Employees provident fund organisation अथवा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन है।

EPFO का फायदा कौन ले सकता है ? 

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के अंतर्गत वे सभी कर्मचारी जो सरकारी व निजी क्षेत्र में काम करते है, जिन्हे उनके कार्य के बदले प्रति माह वेतन के रूप में भुगतान किया जाता है। ऐसे कर्मचारियों के वेतन से प्रति माह कुछ राशि कर्मचारी भविष्य निधि के पास जमा करवाया जाता है, इसमें मुख्यतः कर्मचारी के शेयर के बराबर नियोक्ता द्वारा भी कर्मचारी के UAN Account में जमा करवाए जाते है।

EPF के लाभ / फायदे

ईपीएफ पर अगर कोई जुड़ता है तो उसके कई अलग – अलग फायदे है। epfo द्वारा दिए जाने वाले इन्ही लाभ के कारण यह इस पोर्टल को दूसरों से अलग बनाते है।

किसान पेंशन योजना क्या है?
  • EPF का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह पूर्णतः सरकारी है, एवं यह केंद्र सरकार के अधीन है, इसीलिए यह एक विश्वसनीय संगठन है। इसमें लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या आसानी से नही आती है।
  • इस योजना के तहत कर्मचारी की जितनी तन्खवाह / सैलरी होती है, उसी के आधार पर कुछ राशि इस योजना में अंशदान के रूप में जमा हो जाती है।
  • epfo में जमा राशि पर कर्मचारी को अधिकतम 12 प्रतिशत तक का ब्याज दिया जाता है।
  • इसका एक बड़ा लाभ यह है कि आप यहां से जब चाहे अपना पैसा निकाल सकते है, इसे निकालने की प्रक्रिया काफी आसान है। आप क्लेम की पूरी प्रक्रिया केवल कुछ आसान स्टेप्स में ऑनलाइन ही कर सकते है।
  • क्लेम की प्रक्रिया पहले ऑफलाइन ही होती थी, जिससे क्लेम में कई दिक्कते आती थी, परन्तु वर्तमान में यह पूरी तरह ऑनलाइन हो गया है, इसलिए इसमें ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना होता है।
  • EPF के लिए एक बार KYC करना जरुरी होता है, यह केवल एक बार ही करना होता है। इसके बाद इसमें कोई अपडेट करने की जरूरत नही रहती है। 
  • epfo द्वारा एम्प्लोयी का बीमा किया जाता है। जिसका लाभ लाभार्थी का असामयिक देहांत होने पर पेंशनधारक/कर्मचारी के वारिस / नॉमिनी को Insurance claim दिया जाता है। 
  • यदि कोई भी एम्प्लोयी कुछ ही वर्षो के लिए नौकरी करता है, लेकिन वह अपने PF अकाउंट में पैसे जमा करता रहता है, तो उसे 58 साल की उम्र के बाद से ही पेंशन की राशि दी जाती है।
  • इस योजना की एक और ख़ास बात यह है कि की इसमें आपको FD (fix deposit) से ज्यादा ब्याज दिया जाता है। 
  • EPFO पीएफ खाते से किसी भी विशेष अवसर पर आपको यदि पैसे निकालने हो तो आप इसे काफी आसानी से निकाल सकते है। इसके अलावा आप इसमें से आपातकाल (एमरजेंसी) में 90 प्रतिशत तक ऑनलाइन क्लेम फार्म भरकर आसानी से पैसे निकाल सकते है।

EPF में राशि कैसे जमा होती है ?

यदि आप जॉब करते है, तो कंपनी/नियोक्ता EPF खाते में आपकी या किसी भी कर्मचारी की राशि कैसे जमा होगी इसके बारे में एक सामान्य सा प्रोसेस है। कर्मचारी की जितनी भी सैलरी है, उस सैलरी का 12 प्रतिशत PF में जमा होता है। इस राशि को कंपनी वाले खुद जमा करवाते है।

उसके बाद इस 12 प्रतिशत में से 8.33 प्रतिशत कर्मचारी के पेंशन खाते में चला जाता है। इसके अलावा इस कुल कटौती में से 3.67 प्रतिशत कर्मचारी के EPF में जमा होता है। यह है एक सामान्य सा प्रोसेस जिसकी मदद से आपकी मेहनत की कमाई आपके PF खाते में जमा होती है।

पीएम किसान योजना

EPFO के पास जमा राशि पर मिलने वाला ब्याज 

ईपीएफओ द्वारा जमा फण्ड पर ब्याज दर में समय-समय पर परिवर्तन किया जाता है। कर्मचारियों को दिए जाने वाले ब्याज का निर्धारण भी epfo द्वारा ही किया जाता है, वर्तमान इसकी ब्याज दर 8.5 प्रतिशत है। ब्याज राशि प्रति तिमाही कर्मचारी के pf खाते (PRAN NUMBER) में जमा कर दी जाती है।

EPF में रजिस्टर कैसे करे ? 

EPFO में रजिस्टर करने के लिए सीधे कोई विकल्प नही दिया गया है, लेकिन यदि किसी कंपनी या संस्थान में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या 20 से अधिक है, तो वह कंपनी कर्मचारी भविष्य निधि में अपना नाम रजिस्टर करवा सकती है। इसके बाद संबधित कंपनी अपने कर्मचारियों का फण्ड भविष्य निधि में जमा करवा सकती है।

EPF UAN किस एक्टिव करे ?  

यदि आप पहली बार EPFO में रजिस्टर करते है, तो आपको सबसे पहले अपना UAN Number को active करना होता है। UAN को active करने के लिए आपको नीचे दी गयी प्रक्रिया को अपनाना होगा।

Step 1 – आपको UAN Number को एक्टिवेट करने के लिए सबसे पहले इसके आधिकारिक वेबसाइट पर आना होगा।

Step 2 – आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आने के बाद आपको यहां पर नीचे की तरफ लॉग इन सेक्शन के पास Active UAN विकल्प पर क्लिक करना है।

activate uan epfo

Step 3 – UAN Active विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा। जिसमे आपसे आपका व्यक्तिगत विवरण जैसे- PAN, आधार नंबर, नाम, मोबाइल नंबर, जन्मतिथि आदि माँगा जायेगा। सभी विवरण भरने के get Authorisation pin विकल्प पर क्लिक करना होगा।

activate uan epfo

स्टेप 4 – अब आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा। आपको उसे यहां पर सत्यापित करना होगा। otp सत्यापित होते ही आपका UAN Number सत्यापित हो

इस प्रकार आप अपना uan नंबर एक्टिवटे कर सकते है।

EPFO में लॉग इन कैसे करे? 

EPF में लॉग इन करने से पहले एक बात की जानकारी लेना जरुरी है की क्या आपके EPF का UAN Active हो चूका है। अगर नही है तो पहले EPF का UAN जरुर एक्टिव कर ले। उसके बाद लॉग इन करने की लिए इस प्रोसेस को फॉलो करे। 

  • Step 1 – सबसे पहले आपको इस पोर्टल की www.epfindia.gov.in पर आना होता है। 
  • Step 2 – इस वेबसाइट पर आने के बाद इसमें स्क्रीन पर ही बायीं और लॉग इन करने के लिए आपसे आपका UAN नंबर और पासवर्ड पूछा जाता है। 
  • Step 3 – इसके बाद उसमे अपना UAN और पासवर्ड डालना होता है, इसके बाद नीचे की और Captcha डाल के Sign in के आप्शन की मदद से लॉग इन करना होता है। 

लॉग इन करते ही आपको इसका डैशबोर्ड दिख जायेगा, अगर आप इसे पहली बार कर रहे है तो इसमें आपको KYC पूरी करनी होती है। 

EPF में पासबुक कैसे लॉग इन करे ? 

EPF में लॉग इन करने के साथ ही इसमें पासबुक का आप्शन दिखाई देता है। पासबुक में लॉग इन करने के लिए भी इस प्रोसेस को फॉलो कर सकते है। इस प्रकार से अपनी पासबुक की करे लॉग इन – 

  • Step 1 – सबसे पहले आपको इस पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर आना होता है। 
  • Step 2 – इस वेबसाइट पर आने के बाद इसमें स्क्रीन पर ही बायीं और लॉग इन करने के लिए आपसे आपका UAN नंबर और पासवर्ड पूछा जाता है। 
  • Step 3 – इसके बाद उसमे अपना UAN और पासवर्ड डालना होता है, इसके बाद नीचे की और Captcha डाल के Sign in के आप्शन की मदद से लॉग इन करना होता है।

लॉग इन करने के बाद ही इसमें आप अपने खाते में उपलब्ध बैलेंस देख पायेंगे और अपने क्लेम का स्टेटस भी देख पायेंगे। 

EPFO में अपनी KYC कैसे पूरी करे ?

EPF में अगर कोई पहली बार लॉग इन करना है तो उस समय उसको 2 प्रोसेस को फॉलो करना होता है। एक तो इसमें अपनी KYC पूरी करनी होती है और दूसरा उसमे अपना UAN नंबर active करना होता है। इसमें से एक जो सबसे ज्यादा जरुरी है वो है क्लेम के लिए अपनी KYC पूरा करना। इस तरीके से आप अपनी KYC पूरी कर सकते है। 

  • Step 1 – सबसे पहले आपको इस पोर्टल पर लॉग इन करना होता है। लॉग इन करने के बाद इस पोर्टल पर कई सारे मेन्यु दिखाई देते है।
  • Step 2 – इस मेन्यु में एक आप्शन Manager के नाम से दिखाई देता है, इस Manage में KYC नाम का एक और आप्शन दिखाई देता है, उस पर क्लिक करे। इसके बाद आप एक नए पेज पर आ जायेंगे। 
  • Step 3 – KYC वाले पेज पर आने के बाद इसमें आपको अपनी KYC जैसे आपका Pan card और Bank account की जांनकारी के साथ – साथ इसमें आपको अपना आधार कार्ड को भी Update करना होता है। 

यह सब करने के बाद आपका PAN card और बैंक की पासबुक को Approve करने में तक़रीबन 60 दिवस का समय लग सकता है। इसके अलावा आधार कार्ड को भी Approve करने में इतना ही समय लग सकता है। 

EPF में Claim कैसे सबमिट करे ? 

अगर आपके PF account में पहले से पैसे पड़े है तो उन पैसों को आप आसानी से अपने बैंक में निकाल सकते है। अगर आपके PF खाते की KYC update हो चुकी है तो उसके बाद आप आसानी से इस प्रोसेस की मदद से अपने PF में जमा पैसों को निकाल सकते है। 

  • Step 1 – इसके लिए आपको सबसे पहले इस पोर्टल में लॉग इन करना होता है। लॉग इन करने के बाद आप इस पोर्टल की मदद से Dashboard पर आ जायेंगे। 
  • Step 2 – इसके बाद इसमें आपको एक आप्शन Online services के नाम से दिखाई देता है। इसके बाद इसमें एक आप्शन Claim (Form-31,19,10C&10D) के नाम से होता है। उस आप्शन को ओपन करना होता है। 
  • Step 3 – इसके बाद इसमें आपको आपकी सारी जानकारी मिल जाती है। जैसे ही यह जानकारी आपको दिखती है तो उसमे आपसे आपका बैंक अकाउंट नंबर को डालना होता है। बैंक अकाउंट डालने के बाद Verify करना होता है। 
  • Step 4 – जैसे ही आप अपना खाता संख्या Verify करते है तो उसके बाद Proceed for online claim बटन पर क्लिक कर के आगे बढ़ना होता है। 
  • Step 5 – इसके बाद इसमें आपको निजी जानकारी दिखाई देती है। इन्ही के साथ इसमें क्लेम की जानकारी भरनी होती है जैसे Claim category, service, amount इन सब के साथ आपको अपने बैंक की पासबुक या चेक बुक की साफ़ फोटो उपलोड करनी होती है। 

यह सब जानकारी भरने के बाद जैसे ही इस क्लेम को सबमिट करते है तो आपके आधार कार्ड में जो मोबाइल नंबर है उस पर एक OTP आता है, उस OTP को सबमिट करते ही आपका क्लेम सबमिट हो जाएगा। 

EPF क्लेम कितना निकाल सकते है ?

EPF की कितनी राशि आप निकाल सकते है, इसके बारे में थोड़ी सी जानकारी आपको दे देते है। आपके PF खाते में जितनी भी राशि है उस राशि का लगभग 75% हिस्सा आप अपने बैंक खाते में एक समय में निकाल सकते है। इस राशि को क्लेम सबमिट करने के बाद आपके खाते में आने में तक़रीबन 6 – 7 दिन लग जाते है।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!