झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022 | Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Online Application Form

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan 2022: झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा राज्य की महिलाओं के हित में कार्य करते हुए झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से महिला सशक्तिकरण एवं महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया जाएगा। Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan का संचालन राज्य के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके माध्यम से राज्य के 17 लाख से भी अधिक ग्रामीण महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना के माध्यम से राज्य के गरीब एवं आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को खुद (स्वयं) का व्यवसाय शुरू करने के लिए स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। ताकि महिलाएं आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकें। आज के इस लेख में हम आपको झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA Yojana) से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं, जैसे – झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्या है, इसके लाभ, विशेषताएं, उद्देश्य, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन की प्रक्रिया आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कृपया हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

विषय सूची

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022

Jharkhand ASHA Scheme: झारखंड सरकार द्वारा राज्य की महिलाओं के लिए झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA Yojana) को शुरू किया गया है। राज्य की ऐसी महिलाएं जो अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहती है, लेकिन वह अपनी गरीबी एवं आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण स्वरोजगार शुरू करने में असक्षम है, तो उन्हें ASHA Yojana के माध्यम से बेहतर आजीविका के लिए स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। इस योजना के तहत 17 लाख ग्रामीण महिलाएं स्वरोजगार से लाभान्वित होंगी।

राज्य की ऐसी महिलाएं जो अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए मजबूरन हड़िया दारु बेचने का कार्य करती है उन्हें अब ऐसा कार्य करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस अभियान के अंतर्गत महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, वनोपज, पशुपालन, संग्रहण और उद्यमिता से संबंधित अन्य रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। ताकि वह अच्छी आमदनी कर आत्मनिर्भर बन सके। इस योजना के संचालन के लिए सरकार द्वारा 1200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। ताकि राज्य की महिलाओं को बेहतर आजीविका के साधन उपलब्ध कराया जा सके। 

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan 2022 Overview

योजना का नामझारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान
किसने शुरू कियामुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने 
लाभार्थीराज्य के ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराना
राज्यझारखण्ड 
वर्ष2022 
आवेदन प्रक्रियाअभी जारी नहीं
ऑफिशियल वेबसाइटजल्द लांच की जाएगी 

पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

राज्य की ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को स्वरोजगार स्थापित करने में पलाश ब्रांड की महत्वपूर्ण भूमिका होने वाली है, यह झारखंड सरकार की ही एक ब्रांड है। जिसके माध्यम से अभी केवल खाद्य उत्पादो को ही लांच किया गया है। लेकिन भविष्य में पलाश ब्रांड के माध्यम से जूते, चप्पल एवं साड़ी को भी लांच किया जाएगा। सरकार ने राज्य की महिलाओं को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित किया है ताकि प्लास ब्रांड को एक पहचान दिया जा सके।

इन्हीं महिलाओं के द्वारा पलाश ब्रांड को एक पहचान दिया जाएगा। और इस ब्रांड को बहुत आगे तक ले जाने का कार्य किया जाएगा। महिलाओं द्वारा बनाए गए उत्पाद को पलाश ब्रांड के माध्यम से बाजार में लाने के लिए तैयारी की जा रही हैं।

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान का बजट

हेमंत सरकार द्वारा झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना के लिए 1200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा स्वयं सहायता समूह मंडल की महिलाओं को 150 करोड़ रुपए प्रदान किए गए हैं। इस अभियान के तहत झारखंड राज्य के 17 लाख गरीब महिलाओं को स्वरोजगार के लिए साधन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए अब राज्य सरकार ने ग्रामिण क्षेत्र की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य करना शुरू कर दिया है। 

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान का उद्देश्य

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आजीविका के लिए रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्रदान करना है। सरकार का संकल्प है कि अब झारखंड राज्य में कोई भी महिला सड़क पर हड़िया-दारु बेचती नहीं दिखेंगी। जिसके लिए सरकार द्वारा आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA Scheme) को शुरू किया गया। 

जिससे महिलाएं हड़िया-दारु (शराब) बेचने का कार्य छोड़कर सम्मान पूर्वक कार्य कर पाएंगी। प्रदेश की महिलाओं को सम्मान देने एवं उन्हें कठिन परिस्थितियों से मुक्त करने के लिए झारखंड सरकार द्वारा यह एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। इस योजना के माध्यम से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा एवं वह आत्मनिर्भर बन पाएंगी।

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • हेमंत सरकार ग्रामीण महिलाओं की आर्थिक सशक्तिकरण को लेकर काफी गंभीर है जिसके लिए उन्होंने आजीविका संवर्धन हुनर योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है।
  • आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA) के साथ-साथ फूलों झानो आशीर्वाद अभियान एवं पलाश ब्रांड को भी शुरू किया गया है।
  • इस अभियान के तहत राज्य की ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा ताकि उनकी आर्थिक स्थिति और मजबूत हो सके।
  • ASHA Yojana के माध्यम से कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहन एवं उद्यमिता से संबंधित अन्य स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से हड़िया दारु बेचने का कार्य करने वाली गरीब महिलाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि वह सम्मान पूर्वक कार्य करें।
  • राज्य की ऐसी महिलाएं जो खुद का व्यवसाय शुरू करने की इच्छुक है उन्हें इस योजना के तहत स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। जिसके लिए सरकार द्वारा 1200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Jharkhand के जरिए राज्य की 17 लाख से भी अधिक महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से प्रदेश की गरीब महिलाओं की आमदनी में वृद्धि होगी। जिससे वह आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन पाएंगी।

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के लिए पात्रता

  • केवल झारखंड राज्य के स्थाई निवासी ही आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लिए पात्र होंगी।
  • राज्य के ऐसे गरीब एवं आर्थिक रूप से कमजोर महिलाएं जो मजबूरन हड़िया दारु बेचने का काम करती है वह इस योजना के लिए पात्र है।
  • ASHA Yojana के तहत आवेदन करने के लिए सभी जरूरी दस्तावेजों का होना अनिवार्य है।

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के लिए आवेदन प्रक्रिया

यदि आप ASHA योजना के लिए पात्र हैं और झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, तो इसके लिए अभी आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। क्योंकि राज्य सरकार द्वारा अभी इस योजना के लिए कोई आवेदन प्रक्रिया या अधिकारिक वेबसाइट लॉन्च नहीं किया गया है। आपको सलाह दी जाती है, कि आप समय समय पर महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग व झारखंड सरकार की वेबसाइट को विजिट करते रहना चाहिए। आधिकारिक आदेश / नोटिफिकेशन जारी होने पर विस्तृत प्रक्रिया हमारे द्वारा भी अपडेट कर दी जाएगी।

Conclusion

दोस्तों आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA Yojana) से संबंधित सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख अवश्य पसंद आया होगा और आप इसे अन्य जरूरतमंद लोगों के साथ भी अवश्य शेयर करेंगे। धन्यवाद !

FAQ – Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

प्रश्न 1. झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्यों शुरू किया गया है?

उत्तर. झारखंड सरकार द्वारा शुरू किए गए इस अभियान के माध्यम से महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। ताकि वह हड़िया दारु बेचने के कार्य को छोड़ कर अन्य रोजगार एवं स्वरोजगार के कार्य से जुड़ कर सम्मानपूर्वक जीवन यापन कर सके एवं आत्मनिर्भर बने।  

प्रश्न 2. Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर. यदि आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो अभी आपको कुछ समय इंतजार करना होगा। क्योंकि अभी इस योजना के लिए सिर्फ घोषणा की गई है, अभी कोई आवेदन प्रक्रिया या ऑफिशियल वेबसाइट लॉन्च नहीं किया गया है। जैसे ही सरकार इस योजना से जुड़ी कोई सूचना जारी करती है, हम आपको सूचित कर देंगे।

प्रश्न 3. आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022 को किसके द्वारा शुरू किया गया है?

उत्तर. इस योजना को झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा शुरू किया गया है।

Leave a Comment

x