मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना 2022 | MP Annadoot Yojana Application Form, आवेदन प्रक्रिया

MP Annadoot Yojana 2022: दोस्तों, आज का युवा वर्ग देश में बढ़ती बेरोजगारी की समस्या से परेशान है। शिक्षित होने के बावजूद लोगों को काम नही मिल पाता है, जिस कारण युवाओं को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। प्रदेश में बेरोजगारी के स्तर को कम करने एवं युवाओं को रोजगार प्रदान करने के उद्देश्य से मध्य प्रदेश की सरकार ने MP Annadoot Yojana 2022 की शुरुआत की है। जिसके अंतर्गत प्रदेश के युवाओं को राज्य के उचित मूल्य की राशन दुकान तक खाद्य सामग्री को पहुँचाने का कार्य दिया जाएगा। 

MP Annadoot Yojana

आज के इस लेख में हम आपको MP Annadoot Yojana 2022 से संबंधित जानकारियाँ देने वाले है ताकि आप भी इस योजना का लाभ उठा सके। यहाँ हम आपको अन्नदूत योजना क्या है, इस योजना के लाभ एवं विशेषताएं, उद्देश्य, आवश्यक दस्तावेज और इस योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया के बारे में सभी महत्वपर्ण जानकारी प्रदान करने वाले है। दोस्तों इस योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना 2022 क्या है?

MP Annadoot Yojana की शुरुआत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिव राज सिंह चौहान के द्वारा की गई है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के युवा बेरोजगारों को राज्य के उचित मूल्य की राशन दुकान तक खाद्य सामग्री पहुँचाने का कार्य दिया जाएगा। जिसके लिए सरकार द्वारा कलेक्टरों के माध्यम से युवाओं को चिन्हित किया जायेगा और उन्हें बैंकों से अपनी गारंटी पर वाहन लोन भी उपलब्ध कराया जायेगा। आपको बताना चाहेंगे कि वाहन के लिए प्राप्त लोन पर मध्य प्रदेश के राज्य सरकार की ओर से 3 प्रतिशत का ब्याज अनुदान के रूप में दिया जाएगा।

इसके साथ साथ अन्नादुत योजना के तहत 6 से लेकर 8 टन तक की खाद्यान परिवहन क्षमता के 1000 वाहन युवाओं के लिए खरीदे जाएंगे, जिसके माध्यम से युवा खाद्यान सामग्री को राशन की दुकानों तक पहुंचाएंगे।  मध्य प्रदेश Annadoot Yojana 2022 के अंतर्गत नागरिक आपूर्ति निगम खाद्यान परिवहन के लिए 65 रूपये प्रति क्विनटल की दर से इस योजना के नियमानुसार पात्र युवाओं को भुगतान किया जाएगा। जिसमें परिवहनकर्ताओं को डीजल और ड्राइवर सहित अन्य खर्चे निकालने होंगे। यह 65 रुपये प्रति क्विंटल की दर केंद्र सरकार द्वारा तय की गई है, जिसमें से आधी राशि केंद्र सरकार द्वारा और बाकी की आधी राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी। 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

MP Annadoot Yojana 2022

योजना का नाममध्य प्रदेश अन्नदूत योजना।
संबधित राज्य सरकारमध्य प्रदेश सरकार
लाभार्थीएमपी के युवा।
उद्देश्ययुवाओं का खाद्यान पहुँचाने के कार्य हेतु रोजगार देना।
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लांच की जाएगी / मध्य प्रदेश सरकार

Madhya Pradesh Annadoot Scheme के लाभ एवं विशेषताएं 

  • इस योजना का लाभ मध्य प्रदेश के सभी बेरोजगार युवा प्राप्त कर सकते है।
  • एमपी अन्नदूत योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिव राज सिंह चौहान के द्वारा किया गया है।
  • इस योजना के द्वारा प्रदेश के युवाओं को खुद का रोजगार शुरू करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।
  • MP Annadoot Scheme के अंतर्गत युवाओं को राज्य आपूर्ति निगम के भंडार गृह से खाद्यान सामग्री को राज्य के राशन दुकानों तक पहुँचाने का कार्य दिया जाएगा।
  • मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना के द्वारा राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा। 
  • इस योजना के अंतर्गत युवाओं को खाद्यान पहुंचाने के लिए वाहन भी सरकार ही दिलवाएगी।
  • अन्नदूत योजना मध्य प्रदेश के तहत मिलने वाले वाहन के लिए बैंक से लोन भी सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा, जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा गारंटी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से प्राप्त होने वाले लोन पर राज्य सरकार की ओर से 3 प्रतिशत का ब्याज अनुदान के रूप में दिया जाएगा।  
  • इस योजना के द्वारा राज्य सरकार, बैंकों से अपनी गारंटी पर लाभार्थियों को परिवहन के लिए वाहन उपलब्ध करवाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से प्रदेश में बेरोजगारी की दर घटेगी और युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • उचित मूल्यों की राशन दुकानों तक खाद्यान सामग्री पहुँचाने के लिए 120 परिवहनकर्ता 223 केंद्रों से खाद्यान का उठाव करते है जिसमें से अधिकांश जिलों में एक-एक परिवहनकर्ता है।
  • वर्तमान समय में मध्य प्रदेश राज्य में 26 हजार उचित मूल्य की राशन दुकानों के द्वारा 1 करोड़ 18 लाख परिवारों को खाद्य सामग्री वितरित की जाती है, इसमें से तीन लाख टन खाद्य सामग्री, दुकानों तक हर महीने नागरिक आपूर्ति निगम परिवहनकर्ताओं के द्वारा पहुँचाई जाती है लेकिन इसके ऊपर बहुत ही ज़्यादा घोटाले की शिकायतें भी आती है। 
  • इसी बात को ध्यान में रखते हुए अन्नदूत योजना की शुरुआत की गई है ताकि इस प्रकार से होने वाले घोटालों पर पूर्ण विराम लगाया जा सके।

MPIGR PORTAL

मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो 
  • मोबाइल नंबर

मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना की पात्रताएँ

  • इस योजना के लिए आवेदन करने वाला मध्य प्रदेश राज्य का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • प्रदेश के सभी बेरोजगार युवा इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।  

मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया

यदि आप भी मध्य प्रदेश राज्य के निवासी है और इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है तो आपको बताना चाहेंगे कि मध्य प्रदेश अन्नदूत योजना 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन करने हेतु आपको अभी थोड़ा इंतज़ार करना पड़ेगा क्योंकि अभी तक केवल एमपी अन्नदूत योजना की घोषणा की गई है। MP Annadoot Yojana Online Awedan के लिए अभी तक किसी भी प्रकार की आधिकारिक वेबसाइट लांच नहीं की गई है और न ही अभी तक इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से कोई आधिकारिक सुचना दी गई है। 

जैसे ही इस योजना के बारे में सरकार के तरफ से कोई भी आधिकारिक जानकारी दी जाएगी उसके बारे में हम आपको अपने इस लेख में अपडेट करके जरूर बताएंगे लेकिन तब तक के लिए आपको थोड़ा इंतज़ार करना पड़ेगा।

Conclusion

इस प्रकार आज के आर्टिकल में हमनें आपको MP Annadoot Yojana 2022 से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियाँ देने का प्रयत्न किया है और हम उम्मीद करते है कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल अवश्य ही पसंद आया होगा, यदि आज के इस लेख के माध्यम से आपको लाभ मिला हो तो इसे अन्य लोगों के साथ भी अवश्य शेयर करे।

FAQ : MP Annadoot Yojana 2022

प्रश्न 1. Annadoot Yojana MP के लिए ऑनलाइन आवेदन किस प्रकार से कर सकते है?

उत्तर: इस योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन अभी नही कर पाएंगे क्योंकि अभी तक सरकार द्वारा अन्नदूत योजना के लिए किसी भी प्रकार की वेबसाइट की घोषणा नही की गई है और न ही इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया के बारे में कुछ बताया गया है। 

प्रश्न 2. MP Annadoot Scheme के लिए परिवहन हेतु क्या सरकार युवाओं को वाहन प्रदान करेगी?

उत्तर: इस योजना के लिए एक हजार वाहन युवाओं के लिए खरीदवाये जाएंगे। जिसके लिए बैंकों को गारंटी भी राज्य सरकार ही देगी। इसके साथ ही साथ 3 प्रतिशत का ब्याज अनुदान भी दिया जाएगा।

Leave a Comment

x