(NPS) नेशनल पेंशन स्कीम | सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन फॉर्म ऑनलाइन | Open TIER-1 & TIAR-2 NPS Account Online, Benefit | 2022

नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट | न्यू पेंशन स्कीम इन हिंदी | न्यू पेंशन स्कीम कैलकुलेटर | नेशनल पेंशन स्कीम रिटर्न्स |

नेशनल पेंशन स्कीम 2022: प्रत्येक कर्मचारी की यह इच्छा होती है, कि जब वह किसी भी विभाग में अपने पुरे जीवन की सेवा देने के बाद वह रिटायर हो, तो उसे अपनी आजीविका को चलाने के लिए कुछ धनराशि मासिक आधार पर मिलती रहे। कर्मचारियों की इसी बात को ध्यान में रखते हुए, केंद्र सरकार ने वर्ष 2004 में नेशनल पेंशन स्कीम अथवा नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) की शुरुआत की थी। नेशनल पेंशन स्कीम या NPS Scheme के तहत कर्मचारियों के सेवाकाल के दौरान प्रति माह कुछ राशि उनके सैलरी में से काटकर उनके NPS Account में जमा की जाती है।

नेशनल पेंशन स्कीम

जिसे सरकार कर्मचारियों के हिट को ध्यान में रखते हुए विभिन्न माध्यम से कहीं जगह निवेश करती है। कर्मचारी के रिटायर होने पर जमा फण्ड का कुछ हिस्सा उन्हें लौटा दिया जाता है, शेष राशि को उन्हें पेंशन के रूप में प्रति माह दिया जाता है। इस प्रकार नेशनल पेंशन स्कीम के क्या फायदे है, इसकी विशेषताएं क्या है, पात्रता आवश्यक दस्तावेज आदि सभी के बारे में हम इस आर्टिकल में बात करेंगे। कृपया इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

नेशनल पेंशन स्कीम क्या है? 

न्यू पेंशन स्कीम एक सरकारी एक निवेश योजना है। इसमें निवेश करने के बाद लाभार्थी को रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित पेंशन दी जाती है। न्यू पेंशन सिस्टम की स्थापना वर्ष 2004 में की गयी थी, न्यू पेंशन स्कीम में 2004 के बाद भर्ती हुए कर्मचारी ही आते है। इससे पूर्व भर्ती सभी कर्मचारी पुरानी पेंशन प्रणाली के अंतर्गत आते है। इसे शुरूआती चरण में कुछ विभागों द्वारा लागू किया गया, धीरे-धीरे इसका दायरा बढ़ाया गया, और 2009 तक सभी सरकारी कर्मचारियों को इस स्कीम के अंतर्गत लाया गया।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

एनपीएस के लिए सभी सरकारी कर्मचारियों के अलावा प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी भी आवेदन करके इस योजना का लाभ ले सकते है। इसमें दो तरह के अकाउंट को खुलवाया जा सकता है। जिसमे पहला टियर-1 और दूसरा टियर-2 है। नयी पेंशन योजना में कर्मचारी के वेतन का 10 प्रतिशत प्रति माह जमा करवाया जाता है, जबकि नियोक्ता (Employer) अपने कर्मचारी के NPS खाते में वेतन का 10 या 14% जमा करता है। इस राशि को सरकार द्वारा कहीं जगह निवेश करवाया जाता है। रिटायरमेंट के समय जमा पूंजी का 60% हिस्सा कर्मचारी को दे दिया जाता है, जबकि 40% राशि से प्रति माह रिटायरमेंट कर्मचारी को पेंशन के रूप में दिए जाते है।

National Pension Scheme Overview 2022

योजना नामनेशनल पेंशन स्कीम
किसकी योजना है। भारत सरकार की।
शुरुआत 2004
योजना उद्देश्यरिटायरमेंट के बाद पेंशन प्रदान करना।
लाभार्थी सेवानिवृत कर्मचारी।
साल2022
ऑफिसियल वेबसाइटwww.npscra.nsdl.co.in

नेशनल पेंशन सिस्टम के मुख्य उद्देश्य 

  • इस योजना के तहत किसी भी व्यक्ति को रिटायरमेंट के बाद एक निच्छित पेंशन देना इसका सबसे बड़ा उद्देश्य है। 
  • रिटायरमेंट के बाद लोग अपने हिसाब से आत्मनिर्भर हो सकते है ताकि उनको भविष्य के लिए बेहतर उपाय मिल सके। 
  • इस पेंशन खाते में दो प्रकार के खाते बनाए जा सकते है। जिसमे टायर वन और टायर टू, यह दोनों प्रकार के खाते बनाये जा सकते है। 
  • इसके अलावा इस योजना के माध्यम से संगठन और असंगठन दोनों प्रकार के क्षेत्रों के लोगो को फायदा दिया जाएगा और उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत किया जाएगा। 

NPS की मुख्य विशेषताएं

  • इस योजना के तहत रिटायरमेंट के बाद पेंशन देने और उनको भविष्य को एक बेहतरीन बनाने के लिए मददगार साबित होगी। 
  • इस पोर्टल और इस योजना के तहत अगर कोई Annuity में निवेश करता है तो उस स्तिथि में उसे कर यानी टेक्स में पूरी तरह से छुट दी मिलती है।
  • वही इस योजना के तहत लाभ लेने पर अगर किसी के 50,000 तक की अतिरिक्त Deduction होती है तो उन्हें सेक्शन 80CCE के तहत छूट दी जाती है। 
  • इस पेंशन पोर्टल पर निवेश की सीमा कम से कम 6000/- है, और अगर कोई इससे कम जमा करवाता है तो उसका खाता फ्रीज़ हो जाता है, जिसे वापस अनफ्रीज़ करवाने के लिए रु. 100/- का शुल्क देना होता है। 
  • इस पेंशन योजना में सरकार का भी 14 प्रतिशत का योगदान है जो की पहले 10 प्रतिशत हुआ करता था। 
  • अगर किसी आवेदक की मृत्यु 60 वर्ष की कम उम्र में हो जाती है तो उस पेंशन की राशि को उसनके नॉमिनी को दी जायेगी। 
  • इस पोर्टल पर एक से अधिक खाता नहीं खुलवाया जा सकता है। 

National Pension System में खोले जाने वाले खाते।

पेंशन स्कीम के तहत एक कर्मचारी मुख्यतः दो प्रकार से खाते खुलवा सकता है। जिनका विवरण निम्न है –

  • टायर 1 – Tier-1 में जमा होने वाला पेंशन फण्ड एक निश्चित अवधि के लिए लॉक हो जाता है। यानि tiar-1 में एक पैसा जमा होने के बाद आप एक निश्चित अवधि के बाद ही उसे निकाल पाएंगे। इस खाते को खुलवाने के लिए आपको टायर टू में होल्ड होना अनिवार्य है। 
  • टायर 2 – Tiar-2 में जमा राशि को निकलने के लिए विशेष पाबंदिया नहीं। इस खाते में से पैसे आसानी से निकाल सकते है। 

इन प्रकार आप दो nps scheme में आप दो प्रकार के खाते खुलवा सकते है।

ये भी पढ़ें –

अटल पेंशन योजना

सरल पोर्टल हरियाणा

विमर्श पोर्टल

शाला दर्पण पोर्टल

एनपीएस से फण्ड निकालने के लिए दस्तावेजों की आवश्यकता।

NPS से पैसे निकालना काफी आसान है। इसमें आपको इस प्रोसेस को फॉलो करने की और इस दस्तावेज की आवश्यकता हो सकती है – 

  • पेन कार्ड – पैसे निकालने के लिए आवेदक के पास खुद का पेन कार्ड होना जरुरी है। 
  • आधार कार्ड की कॉपी – इसके आलवा आवेदक की आधार कार्ड कॉपी भी जमा करवाना जरुरी है। 
  • निवास प्रमाण पत्र की कॉपी – आप कहा रहते है, उससे सम्बंधित दस्तावेज भी जमा करवाना जरुरी है। 
  • केंसिल चेक – जिस बैंक खाते में पैसा लेना चाहते है, उस बैंक से सम्बंधित कैंसिल चेक भी देना जरुरी है। 

NPS Scheme के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ लेने के लिए यह कुछ निम्न पात्रताएं है – 

  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक भारत का मूल निवासी होना चाहिए। 
  • इसके अलावा इसमें रेजिडेंट और नॉन रेजिडेंट दोनों आवेदन कर सकते है। 
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आयु 18 से 60 साल के मध्य होनी चाहिए। 
  • इस योजना में मुख्यतः सरकारी कर्मचारी ही आवेदन करते है, क्यूंकि उनके लिए यह अनिवार्य होता है। लेकिन यदि कोई भी अन्य व्यक्ति इस स्कीम में निवेश करना चाहता है, तो वह अपनी kyc पूरी कर nps account ओपन कर सकता है। इसके बाद आसानी से NPS स्कीम में निवेश कर सकता है।

यह इस योजना से जुडी कुछ सामान्य जरूरतें और पात्रताएं है – 

NPS पेंशन में कौन आवेदन कर सकता है 

इस पेंशन पोर्टल के माध्यम से कौन – कौन आवेदन कर सकते है। आवेदन करने वाले निम्न श्रेणी में आ सकते है। 

  • केन्द्रीय सरकार के कर्मचारी। 
  • राज्य सरकार के कर्मचारी।
  • निजी क्षेत्र के कर्मचारी। 

इन सभी श्रेणी में आने वाले सभी लोग आवेदन करते है। यह पोर्टल और यह योजना मुख्य रूप से आम लोगो के लिए शुरू की गई है। इसके अलावा इसमें कुछ सेक्टर भी आते है जो इसमें निवेश कर सकते है। 

NPS के अधीन आने वाले सेक्टर

इस नेशनल पेंशन सिस्टम में यह कुछ निम्न सेक्टर आते है जो इस प्रकार है – 

  • केंद्र और राज्य सरकार और इससे जुड़े सभी कार्यालय और तंत्र। 
  • इसके अलावा इसमें कॉर्पोरेट भी आते है।
  • देश के सभी नागरिक भी इसमें शामिल होते है। 
  • इसके अलावा इसमें देश के NRI भी इस योजना का लाभ ले सकते है।

एनपीएस पोर्टल के लाभ 

NPS एक ऐसा पोर्टल है जिस पर काफी लोग इसकी और आकर्षित हो रहे है। NPS पोर्टल के यह है लाभ – 

  • इस पेंशन पोर्टल पर किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नही देना होता है। 
  • यह आसानी से Portable होने वाला है। 
  • यह पेशेवर रूप से अनुभवी पेंशन फण्ड है। 
  • टैक्स में भी इससे छूट मिलती है। 
  • नौकरी बदलने पर इस NPS अकाउंट को बदलने की जरूरत नही रहती है। 
  • इसके अलावा इसमें विभाग द्वारा रोजाना की नेट एसेट्स Calculate की जाती है। 

वही इसमें टायर 2 अकाउंट के कुछ अलग ही लाभ है – 

  • आसानी से पैसों की निकासी की जा सकती है। 
  • इस खाते में किसी भी प्रकार से न्यूनतम राशि रखने की आवश्यकता नही होती है। 
  • Exit Loan के लिए किसी भी प्रकार की वसूली नही की जायेगी।
  • अलग नामांकन सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। 
  • टायर – 1 से अलग से निवेश पेटर्न की सुविधा। 

NPS में जमा राशि किस प्रकार निवेश की जायेगी

अगर आप इसमें निवेश करते है तो उसके बाद आपका पैसा कहा निवेश किया जाएगा। आपके द्वारा जमा किये गये पैसों को इन निम्न जगह निवेश किया जाएगा – 

  • इक्विटी में। 
  • कॉर्पोरेट डेट।
  • गवर्नमेंट सिक्यूरिटी।
  • अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फण्ड 

इत्यादि इन सभी प्रकार के कामों के लिए आपका पैसा निवेश किया जाता है। इसके इसमें आप कितना निवेश करते है उसके बारे में भी जानकारी देनी होती है। 

NPS में निवेश के विकल्प

इसमें दो प्रकार के निवेश के विकल्प है। यह दो विकल्प कुछ इस तरह है – 

  • एक्टिव चॉइस – इस विकल्प में लाभार्थी को खुद से ही अपनी राशि का निवेश करना होता है। लाभार्थी कितना निवेश करना चाहता है। 
  • ऑटो चॉइस – इसमें किसी कुछ डाटा लेकर और उनकी मेट्रिक के आधार पर राशि निकाली जाती है की आप कितना निवेश करेंगे। 

NPS के लिए जरुरी दस्तावेज

NPS योजना के लिए इन निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है – 

  • निवास प्रमाण – आवेदक जो इसमें आवेदन करना चाहता है उसके लिए उसे खुद का निवेश प्रमाण पत्र या कोई ऐसा दस्तावेज जो निवास के पते को प्रूफ कर सके, जमा करवाना होता है। आवेदन के समय इसे साथ रखे। 
  • आधार कार्ड – वर्तमान में कोई भी योजना का लाभ लेना चाहते है तो उसके लिए हमारे पास आधार कार्ड का होना जरुरी है। 
  • जन्म तारीख का प्रमाण – इसने अलावा इस योजना के लिए जन्म का एक प्रमाण बताना भी जरुरी है जैसे जनम प्रमाण पत्र और दशवी कक्षा की मार्कशीट। इसके अलावा और भी कोई दस्तावेज जमा करवा सकते है। 

नेशनल पेंशन में नए अपडेट 

इस योजना में कुछ और नए अपडेट भी आये है जो इस योजना के लिए बेहद ही जरुरी है – 

  • शुरुआत में इस योजना में कमर्चारियों को 10 प्रतिशत का योगदान देना होता था जिसे बढ़ा कर 14 प्रतिशत कर दिया। 
  • इसमें योजना में जमा राशि का 60 प्रतिशत हिस्सा कर मुक्त है। 
  • कर्मचारियों को इसके बारे में जानकारी दी गई है की उनके द्वारा पेंशन राशि जमा की जाती है उसे किस फण्ड में निवेश किया जाएगा। 
  • इसके अलावा कर्मचारी या जो इसमें निवेश करते है वो साल में एक बार फण्ड बदल सकते है।

इन जरुरी दस्तावेज के साथ आप अपना जमा किया हुआ पैसा निकाल सकते है। 

NPS में अकाउंट कैसे खोले ? 

NPS में खाता खोलने के लिए ऑनलाइन तरीके का इस्तेमाल कर है

ऑनलाइन खाता खोलने की प्रक्रिया 

ऑनलाइन खाता खोलने के लिए इस प्रोसेस को फॉलो करना होता है – 

  • Step 1 – सबसे पहले आपको nps की आधिकारिक वेबसाइट पर आना होगा।
  • Step 2 – इस वेबसाइट पर आने के बाद आप इस वेबसाइट के होमपेज पर आ जायेंगे। 
  • Step 3 – आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पेज पर आपको national pension system विकल्प दिखाई देगा। आपको इस पर क्लिक करना है।
national pension system
  • Step 4 – आपको इसके बाद इसमें एक नया टैब (पॉपअप) दिखाई देता है, उसमे से Registration के आप्शन पर दिखाई देता है। 
national pension system
  • स्टेप 5 – रजिस्ट्रेशन विकल्प पर क्लिक करने के बाद अब आपके सामने NPS रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। यहां पर आपको कुछ विकल्प मिलेंगे जैसे खाते का प्रकार, status of applicant आदि। इसके बाद आपको अपना आधार नंबर डालना है। उसके बाद जेनेरेट ओटीपी पर क्लिक करना है।
national pension system
  • Step 7 – अब आपके आधार कार्ड पर लगे रेजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी (पासवर्ड) प्राप्त होगा, आपको उसे वेरीफाई करना है। otp वेरीफाई के बाद आपके सामने NPS Account खुल जायेगा।
    • फार्म में आपसे कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां मांगी जाएगी। जैसे नाम, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, एप्लीकेशन टाइप, स्टेटस ऑफ़ एप्लीकेशन इत्यादि।
    • सभी जानकारियां भरने के बाद आपको अपना फॉर्म सबमिट कर देना है।

इस प्रकार आपके TIER – I अकाउंट खुल जाएगा।

NPS TIER II को एक्टिव कैसे करे ? 

TIER – II को एक्टिव करने के लिए आप इस प्रोसेस को फॉलो कर सकते है। 

  • Step 1 – सबसे पहले आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर आना होता है। 
  • Step 2 – इस वेबसाइट पर आने के बाद आप इस वेबसाइट के होम पेज पर आ जायेंगे। 
  • Step 3 – इसके बाद इस वेबसाइट में ऊपर की और एक आप्शन Open your NPS account / contribute online का आप्शन दिखाई देगा, उस पर क्लिक करे।
  • Step 4 – इसके बाद इस लिंक पर क्लिक करने के बाद इसमें एक नया पेज खुल जाएगा। 
  • Step 5 – इस पेज पर आने के बाद इसमें एक आप्शन national pension system के नाम से दिखाई देता है, उस पर क्लिक करना होता है।
नेशनल पेंशन सिस्टम
  • Step 6 – एनपीएस / Nation pension system पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अब TIER II Activation के नाम से आप्शन दिखाई देगा, आपको उस विकल्प पर क्लिक करना है।
नेशनल पेंशन सिस्टम
  • Step 7 – अब आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा। यहां पर आपसे अब कुछ विवरण माँगा जायेगा। जैसे – PRAN नंबर, जन्म तिथि, PAN Card आदि। इसके बाद कैप्चा कोड भरकर सबमिट बटन को दबा दें।
  • इस प्रकार आपका NPS Tiar 2 खाता एक्टिवेट हो जायेगा।

नेशनल पेंशन स्कीम में Contribute कैसे करे ? 

नेशनल पेंशन स्कीम में अपना Contribute करने के लिए आपको पहले आप national pension system के कंट्रीब्यूट पेज पर आना होता है। इसके बाद इसमें आपके PRAN नंबर और कुछ सामान्य जानकारी पूछी जायेगी। उसे भर के और उसके बाद इसे वेरीफाई करने के बाद आपसे payment की डिटेल पूछी जाएगी। Payment करने के बाद आपका Contribution हो जाएगा।

नेशनल पेंशन स्कीम

न्यू पेंशन स्कीम कैलकुलेटर

यदि आप न्यू पेंशन स्कीम में निवेश कर रहे है, तो आपके मन में एक सवाल जरूर आता होगा कि आखिर हमारे रिटायरमेंट के समय हमें कितना फण्ड मिलेगा, या पेंशन कितनी मिलेगी। यदि आप भी जानना चाहते है कि आपको आपके अंशदान के अनुसार आपको अनुमानित कितनी पेंशन मिलेगी तो नीचे दिए गयी लिंक पर nps calculator पर जाकर आप चेक कर सकते है।

Pension Calculator – Click Here

इस लेख में हमने आपको National pension scheme या new pension scheme के बारे में बताया है। उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा। यदि आपको लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के बीच जरूर शेयर करें।

NPS की फुल फॉर्म क्या है ?

NPS की फुल फॉर्म National Pension System है, लेकिन आम तौर पर इसे न्यू पेंशन स्कीम के नाम से जाना जाता है। यह कर्मचारियों को अपना रिटायरमेंट प्लान चुनने का विकल्प देता है।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!