आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन – 2022 | Ayushman Bharat Digital Mission health id

Ayushman Bharat Digital Mission | आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन रजिस्ट्रेशन | डिजिटल हेल्थ कार्ड | नेशनल डिजिटल हेल्थ कार्ड | आयुष्मान भारत मिशन का संबंध किस क्षेत्र से है |

केंद्र सरकार के राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण एजेंसी ने हाल ही में एक नया प्रोग्राम “आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022” लॉन्च किया है | इस प्रोग्राम/योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य सुविधाओं का डिजिटाइजेशन किया जाएगा | इस मिशन के अंतर्गत सभी राज्यों के नागरिकों का स्वास्थ्य डेटाबेस तैयार किया जाएगा, जिससे देश के नागरिकों को इस मिशन से सम्बंधित सभी प्रकार की सेवाएं और सुविधाएं मिल सके | 

Ayushman Bharat Digital Mission

इस आर्टिकल के अंतर्गत Ayushman Bharat Digital Mission से जुड़ी तमाम जानकारी आपको शेयर की जाएगी | अतः ध्यान से इस आर्टिकल को पढ़े ताकि इस मिशन से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन, उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं इत्यादि आपको प्राप्त हो | 

Ayushman Bharat Digital Mission 2022 

इस योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 21 सितम्बर 2021 को वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये शुरू किया गया था |  इस मिशन के तहत देशभर के नागरिक अपना आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अकाउंट नंबर बना पाएंगे, जिससे उनके डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड को जोड़ा जा सकेगा|

  • देश के नागरिकों को एक डिजिटल स्वास्थ्य आईडी कार्ड प्रदान किया जायेगा, जिसमें उनके स्वास्थ्य सभी डेटाबेस होगा।
  • यह योजना पहले छह केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की गई थी, अब इसे सम्पूर्ण भारत में लागू किया गया है।
  • आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भारत की एक प्रमुख योजना है, जो कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगाँठ के दौरान शुरू की गयी थी।

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 Highlights 

योजना आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 
किसके द्वारा शुरू की गई।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 
कहाँ शुरू की गई सम्पूर्ण देश में। 
कब शुरू की गई 21 सितंबर 2021 
लाभार्थी सम्पूर्ण देश के नागरिक।
आधिकारिक वेबसाइट https://abdm.gov.in 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 के उद्देश्य 

  • कोर डिजिटल स्वास्थ्य डाटा के लिए अत्याधुनिक डिजिटल स्वास्थ्य प्रणालियों की स्थापना की जाएगी। 
  • सभी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य हितधारकों द्वारा खुले मानकों को अपनाने को लागू करना | 
  • व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड की एक प्रणाली बनाना और स्वास्थ्य रिकॉर्ड के लिए आवश्यक बुनियादी ढाँचा विकसित करना | 
  • स्वास्थ्य के लिए सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने पर विशेष ध्यान देने के साथ स्वास्थ्य अनुप्रयोग प्रणालियों के विकास को बढ़ावा देना | 
  • योजना के विजन को पूरा करने के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ काम करते हुए कोआपरेटिव संघवाद के सर्वोत्तम सिद्धांतों को अपनाना | 
  • स्वास्थ्य चिकित्सकों और पेशेवरों द्वारा सीडीएस प्रणालियों  बढ़ावा देना | 
  • स्वास्थ्य डाटा विश्लेषण और चिकित्सा अनुसंधान का लाभ उठाते हुए स्वास्थ्य क्षेत्र के बेहतर प्रबंधन को बढ़ावा देना | 
  • स्वास्थ्य देखभाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए उठाये जा रहे प्रभावी क़दमों का समर्थन करना | 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 की विशेषताएँ 

हेल्थ आईडी:

  • हेल्थ आईडी प्रत्येक नागरिक के लिए जारी किया जाएगा जो साथ-ही-साथ उनके स्वास्थ्य अकाउंट के रूप में भी कार्य करेगा |
  • इस स्वास्थ्य खाते में हर परीक्षण, हर बीमारी, डॉक्टर के पास जाना, दवाएं, और बीमारी के निदान का विवरण होगा | 
  • हेल्थ आईडी फ्री है | यह स्वास्थ्य डेटा का विश्लेषण करने में मदद करेगा और स्वास्थ्य कार्यक्रमों के लिए बेहतर योजना, बजट और कार्यान्वयन में मदद करेगा |  

स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं और पेशेवर रजिस्ट्री (HPR और HFR)

  • आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के अन्य घटक HPR (Healthcare Professionals Registry) और HFR (Health Facility Registry) है, जिससे चिकित्सा पेशेवरों और स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे तक आसान इलेक्ट्रॉनिक पहुँच की अनुमति मिलती है | 
  • HPR चिकित्सा प्रणाली में आधुनिक और पारम्परिक स्वास्थ्य चिकित्सा दोनों शामिल है | 
  • HFR डेटाबेस में देश की सभी स्वास्थ्य सुविधाओं का रिकॉर्ड होगा | 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 के लाभ 

  • पेशेंट अपने मेडिकल रिकॉर्ड को आसानी से स्टोर और एक्सेस कर सकेंगे और उचित उपचार करने के लिए उन्हें स्वास्थ्य देखभाल प्रदाताओं के साथ साझा कर सकेंगे | वे स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवा प्रदाताओं के बारे सटीक जानकारी प्राप्त कर सकेंगे | 
  • डॉक्टरों, अस्पतालों, और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए व्यवसाय करने में आसानी होगी | 
  • नागरिको के स्वास्थ्य रिकॉर्ड तक पहुँच -प्रदान आसानी से होगा | 
  • यह मिशन गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल के लिए समान पहुँच में सुधार करेगा क्योंकि यह टेलीमेडिसिन जैसी तकनीकों के उपयोग को प्रोत्साहित करेगा | 
  • इस मिशन के तहत देश के नागरिक प्राइवेट और पब्लिक दोनों ही स्वास्थ्य सेवा प्राप्त कर सकते है | 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियाँ 

  • पिछले कुछ वर्षों में भारत में कई तरह की योजनाएं देशभर के नागरिकों के हित में लागू हुई है, जिनमें आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन योजना भी शामिल है | 
  • इस योजना को सर्वप्रथम केंद्र शासित राज्यों में पाइलट प्रोजेक्ट के तहत शुरू किया गया था लेकिन 21 सितम्बर 2021 को इस मिशन को देशभर में लागू कर दिया गया | | 
  • इस मिशन के तहत अब अस्पतालों में इलाज कराना बहुत आसान होगा | 
  • सभी नागरिकों का एक यूनिक हेल्थ कार्ड होगा जिसमें उनके पूरे स्वास्थ्य का विवरण होगा | 
  • इस योजना के तहत देशभर के नागरिकों को 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जायेगा | 
  • सबकुछ डिजिटल होने से अब लोगों की समस्या का समाधान भी जल्दी होगा और किसी भी तरह की कोई भी गड़बड़ होने से भी बचा जा सकेगा | 
  • आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन ने यह सुनिश्चित किया है कि अब दूरदराज क्षेत्रो और गाँवों में रहने वाले नागरिक आसानी से विशेषज्ञ चिकित्सा प्राप्त कर सकेंगे | 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 वन नेशन वन कार्ड 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत वन नेशन वन कार्ड जारी किया गया है जो की एक हेल्थ कार्ड है | यह बिलकुल आधार कार्ड की तरह ही है जिसमें 14 अंकों का नंबर जनरेट किया जायेगा | इसमें मरीज के स्वास्थ्य का पूरा विवरण डिजिटली स्टोर होता है | अब किसी भी मरीज को हॉस्पिटल में रिपोर्ट या पर्ची ले जाने की आवश्यकता नहीं है | 

डॉक्टर रोगी की पूरी मेडिकल हिस्ट्री जान पाएंगे की उसे कौनसी बीमारी थी और कहाँ से उसने इलाज करवाया था इत्यादि | उन्हें डॉक्टर कोई रिपोर्ट दिखाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी | मरीज देशभर में कहीं भी यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड से इलाज करवा पाएंगे | 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 हेल्थ कार्ड के लिए आवेदन करना

अगर आप भी अपना हेल्थ कार्ड बनवाना चाहते है तो आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करने की आवश्यकता है:

  • सबसे पहले आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की ऑफिशियल वेबसाइट http://ndhm.gov.in पर जाएँ | 
  • आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आने के बाद आपको क्रिएट यूनिक हेल्थ कार्ड विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक पेज खुलेगा, जहाँ पर आपको अपना आधार कार्ड नंबर व अन्य जानकारियां देनी होगी। सभी विवरण देने के बाद आपको अपना मोबाइल नंबर भी दर्ज करना होगा। अब आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा | जिसे आपको वेरीफाई / सत्यापित करना होगा।
  • ओटीपी वेरीफाई होने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा, जिसमें आपको अपना सभी विवरण भरना है | इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दे | 
  • अब आपके सामने आपका हेल्थ आईडी कार्ड बनकर तैयार हो जायेगा | जिसमें आपकी सभी जानकारियां, फोटो और क्यू आर कोड होगा।
  • अब इस हेल्थ कार्ड का इस्तेमाल करके आप स्वास्थ्य से सम्बंधित सभी तरह की सुविधाएं प्राप्त कर सकते है | 
आधिकारिक वेबसाइटयहाँ क्लिक करें।
होम पेजयहां क्लिक करें।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!