भूलेख हरियाणा – 2022 : ऑनलाइन हरियाणा जमाबंदी नकल, अपना खाता, खसरा खतौनी, jamabandi.nic.in, Bhulekh Haryana Portal

Bhulekh Haryana ।Jamabandi online। जमीन की फर्द हरियाणा । Fard Jamabandi । Haryana registry check online । Jamabandi nakal Haryana Online । हरियाणा अपना खाता ऑनलाइन जमाबंदी नकल और खसरा नंबर 2021-2022

दोस्तों इस आर्टिकल में हम Bhulekh Haryana Portal के बारे में जानेंगे। हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के निवासियों के लिए घर बैठे अपना खाता ऑनलाइन जमाबन्दी नक़ल और खसरा नंबर के अलावा अन्य Haryana Land Records देखने के लिए ऑनलाइन भूलेख पोर्टल 2022 बनाया है। इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के लोगों को (खासकर किसानों को) बहुत लाभ होगा। किसानों को खसरा खतौनी निकालने के लिए अब तहसील व अन्य सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

हरियाणा के किसान अब घर बैठे बिना समय गवाए अपना खाता भूलेख खतौनी / खसरा केवल 5 मिनट में अपने मोबाइल या लैपटॉप द्वारा खतौनी को देख सकते है। हरयाणा सरकार का यह पोर्टल यहां के लोगों के लिए लैंड रिकॉर्ड सम्बन्धी जानकारी के लिए सिंगल विंडो का काम करता है। आपके लिए केवल एक पोर्टल पर ही भूमि डेटा से संबधित सभी जानकारियां जैसे – खसरा, खतौनी, जमीन का नक्शा, प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन, स्टाम्प शुल्क कैलकुलेटर आदि कहीं सेवाएं उपलब्ध करवाई गयी है। आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि हरियाणा भूलेख पोर्टल पर कौन-कौन से दस्तावेज उपलब्ध है, इन कागजो को कैसे डाउनलोड व प्रिंट कर सकते है? आदि के बारे में जानने के लिए पूरा आर्टिकल पढ़ें।

ये भी पढ़ें – भूलेख हरियाणा

Bhulekh Haryana Portal Overview 2021-2022

पोर्टल का नामHaryana Jamabandi
कैटगरी पोर्टल के माध्यम से जमीन संबधी दस्तावेज उपलब्ध करवाना।
किस राज्य से संबधित है State Government of Haryana
प्रकार जमाबंदी ऑनलाइन देखें।
सेवाएं जमाबंदी, प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन, स्टाम्प शुल्क कैलकुलेटर, संपत्ति पंजीकरण, खसरा खतौनी भुलेख आदि
आधिकारिक वेबसाइट Jamabandi.nic.in
देखेंहरियाणा भुलेख ऑनलाइन देखें

हरयाणा अपना खाता ऑनलाइन जमाबंदी देखें

डिजिटलीकरण की इस दौर में इस पोर्टल से आम आदमी को बहुत ज्यादा फायदा/लाभ हो रहा है। यदि हम लोग टेक्नोलॉजी का सही उपयोग करें, तो हमारे लिए इसके बहुत ज्यादा बेनिफिट भी है। इसी दौड़ में हरियाणा सरकार द्वारा भी अपने सरकारी कार्यो को ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लेकर आयी है। जिसका फायदा सीधे- सीधे लोगो को मिल रहा है। आज हरियाणा का किसान जिस कार्य के लिए पहले सरकारी कार्यालयों के कहीं चक्कर लगाने के बाद भी नहीं कर पाता था।

लेकिन उसी कार्य को वह अपने घर बैठे ही अपना खाता खसरा खतौनी व लैंड रिकॉर्ड से संबधित अन्य कार्य बिना पैसा खर्च किए केवल कुछ मिनटों में कर सकता है। किसानों के अलावा राज्य के अन्य लोगों के लिए भी यह पोर्टल काफी उपयोगी है। इससे लोगों अपने बैनामा से संबधित जानकारी मिलकर कहीं अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते है।

ये भी पढ़ें – भूलेख पंजाब

हरयाणा लैंड रिकॉर्ड पोर्टल के उदेश्य / लाभ (Benefit of Haryana Land Record Portal)

राज्य सरकार का भूलेख पोर्टल बनाने का मुख्य उदेश्य राज्य के लोगों को haryana land records की जानकारी ऑनलाइन घर बैठे उपलब्ध करवाना है। हरयाणा के लोग इसका लाभ भी ले रहे है। राज्य के रहने वाले लोगों को पहले जिस काम को करने के लिए कहीं बार सरकारी दफ्तरों में जाना पड़ता था। वह अब उसी कार्य को केवल कुछ मिनटों में कर सकते है, वह भी घर में बैठे-बैठे आसानी से। पोर्टल से होने वाले लाभ का विवरण निम्न है –

  • लोगों को ऑनलाइन भूलेख जानकारी बिना समय व धन गवाए आसानी से प्राप्त हो जाती है। जब ऑनलाइन पोर्टल नहीं था, उस समय किसानों को खसरा खतौनी निकलने में बड़ी दिक्कत आती थी। लेकिन भूलेख पोर्टल से किसानों का काम आसान हो गया है।
  • राज्य के किसी भी स्थान की अपना खाता जानकारी अब आसानी से प्राप्त की जा सकती है। फिर चाहे वह भूलेख हरयाणा भिवानी की लैंड डिटेल्स देखनी हो या भूलेख हरयाणा पलवल की या भूलेख हरयाणा फरीदाबाद या भूलेख हरयाणा गुडगाँव, राज्य के सभी जगह की भूमि जानकारी आसानी से प्राप्त की जा सकती है। इसका लाभ सीधा यहां के लोगो को मिल रहा है।
  • लोगों के समय की बचत हो रही है, क्यूंकि उन्हें वेबजह तहसीलों के चक्कर नहीं लगाने पड़ रहे है। वह कहीं भी गए बिना अपने काम को कर ले रहे है।
  • ऑनलाइन पोर्टल होने से काम में काफी पारदर्शिता आयी है। क्यूंकि अब सरकार व राज्य के निवासियों के बीच बिचोलियो की भूमिका नहीं रह गयी है। किसान या अन्य कोई भी राज्य का निवासी ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर दस्तावेज डाउनलोड कर सकता है।
  • ऑनलइन भुलख पोर्टल से आम आदमी का वेबजह खर्च होने पैसों की भी बचत हो जाती है।
  • हमारे देश के किसान के लिए अक्सर कृषि ऋण की आवश्यकता पड़ती रहती है। इसके लिए उन्हें बैंक को खसरा खतौनी आदि देना पड़ता है। खसरा/खतौनी उन्हें तहसील से निकलवाकर देनी होती थी। लेकिन अब उन्हें तहसील जाने की आवश्यकता नहीं है। किसान भूलेख पोर्टल से खतौनी निकालकर बैंक से ऋण प्राप्त कर सकते है।

ये भी पढ़ें – मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना क्या है ?

ऐसे जिलों की सूची जिनका ऑनलाइन लैंड रिकॉर्ड उपलब्ध है।

Ambala (अम्बाला)Kurukshetra (कुरुक्षेत्र)
Charkhi Dadri (दादरी)Nuh (नूहं)
Fatehabad (फतेहाबाद)Jhajjar (झज्जर)
Rohtak (रोहतक)Gurugram (गुरुग्राम)
Bhiwani (भिवानी)Rewari (रेवाड़ी)
Faridabad (फरीदाबाद)Palwal (पलवल)
Mahendragarh (महेंद्रगढ़)Karnal (करनाल)
Yamunanagar (यमुनानगर)Hisar (हिसार)
Kaithal (कैथल)Panipat (पानीपत)
Sonipat (सोनीपत)Jind (जींद)
Sirsa (सिरसा)Panchkula (पंचकुला)

भू रिकॉर्ड से संबधित कुछ प्रमुख डाक्यूमेंट्स के प्रकार

हरियाणा सरकार के पोर्टल से कहीं प्रकार के दस्तावेज रजिस्टर उपलब्ध है। भूलेख हरियाणा जमीन के रिकॉर्ड से संबधित एक बहुउदेश्यीय पोर्टल है, जमीन से संबधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हरयाणा सरकार के लिए यह सिंगल विंडो का काम करता है। आप भूलेख हरियाणा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट jamabandi.nic.in पर जाकर कौन-कौन से दस्तावेज निकाल सकते है, इसका विवरण हम नीचे दिया गया है।

हमारे देश पर सदियों से विभिन्न लोगो द्वारा शासन किया गया। जिनमे से मुग़ल व अंग्रेज प्रमुख है। भारत पर मुगलों ने काफी लम्बे समय तक शासन किया था। यही कारण है कि उनके समय में प्रयुक्त होने वाली भू-रिकॉर्ड संबधी शब्दावली आज भी देखने को मिलती है। ये शब्दावली अन्य राज्यों की तरह हरियाणा में भी प्रचलित है। भूलेख हरियाणा पोर्टल पर निकाले जाने वाले दस्तावेजों में ये देखने को मिलता है।

ये भी पढ़ें – उत्तर प्रदेश भूलेख

जमाबंदी क्या है?

जमीन से संबधित जिसमे प्रत्येक जानकारी दी रहती है। जमाबंदी शब्द को उर्दू भाषा से लिया गया है। जमाबंदी एक प्रकार का जमीन का रिकॉर्ड है इसमें जमीन की भौगोलिक स्थिति, जमीन की मैप जैसे लम्बाई, चौड़ाई आदि, जमीन के स्वामी या मालिक का नाम, भूमि का उपयोग क्या है जैसे – बंजर है या उपजाऊ है आदि सभी जानकारियां जमाबंदी में दी रहती है।

म्यूटेशन रजिस्टर क्या है?

संविधान में लैंड या जमीन राज्य सूची का विषय है। जमीन या लैंड से संबधित राज्य सरकार के पास उपलब्ध समझौता रिकॉर्ड है, जिसमे किसी भी जमीन का मालिकाना हक़ का विवरण दिया रहता है। म्यूटेशन रजिस्टर में सभी प्रकार की जमीन जैसे – खेवट, जमाबंदी आदि से संबधित जानकारी उपलब्ध करवाई जाती है।

खसरा गिरदावरी क्या है ?

खसरा गिरदावरी किसी भी भूमि पर बोई जाने वाली फसल के निरिक्षण का रजिस्टर है। यह दस्तावेज पटवारी द्वारा प्रत्येक बारह वर्ष में अपडेट किया जाता है। पुराना रजिस्टर नष्ट करके नया रजिस्टर बनाया जाता है। यह रजिस्टर पटवारी के पास ही रहता है। गिरदावरी मुख्यतः दो प्रकार की होती है, जैसे रबी सीजन वाले रजिस्टर को रबी गिरदावरी एवं खरीफ सीजन के लिए खरीफ गिरदावारी कहा जाता है। प्रत्येक सीजन के लिए पटवारी निरिक्षण करके उस जमीन से संबधित तथ्यों को रजिस्टर में उपडेट किया जाता है जैसे – फसल, मिटटी वर्गीकरण आदि।

शजरा नस्ब क्या है ?

शजरा नस्ब भी भू रिकॉर्ड की एक टर्म है। इसमें स्वामित्व के उत्तराधारों के लिए अधिकारों में समय – समय होने परिवर्तन आदि का विवरण दिया रहता है।

इसके अलावा भी भारत में विभिन्न स्थानों में भू रिकॉर्ड से संबधित कहीं टर्म्स है। जैसे – रोजनामचा, लाथा, लाल किताब, करंट प्राइस रजिस्टर, शाजरा किश्तवाड़, रेनफॉल, मुक्तखीब असमिविर आदि इनमे से अधिकतर टर्म उर्दू भाषा से ली गयी है।

ये भी पढ़ें- बिहार भूलेख पोर्टल

हरियाणा भूलेख पोर्टल पर जमाबंदी नकल, अपना खाता ऑनलाइन कैसे चेक करें?

भूलेख हरियाणा पोर्टल पर ऑनलाइन डाक्यूमेंट्स की प्रक्रिया हम आपको नीचे स्टेप टू स्टेप बताने जा रहे है। यहां पर सभी स्टेप्स को देखने के बाद आप भूलेख हरियाणा पोर्टल से सभी डाक्यूमेंट्स को आसानी से निकाल पाएंगे।

स्टेप एक। आधिकारिक वेबसाइट पर जाना।

सबसे पहली स्टेप में आपको हरियाणा जमाबंदी नक़ल की आधिकारिक वेबसाइट jamabandi.nic.in पर जाना होगा। आप आधिकारिक वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर आ जायेंगे। अब आपको यहां पर कहीं सारे ऑप्शन दिखाई देंगे।

bhulekh haryana

स्टेप दो। जमाबंदी नक़ल ऑप्शन को चुनना।

होम पेज पर दिए गए जमाबंदी विकल्प के पास करसर ले जाना है। अब आप आपको वहां जमाबंदी नक़ल का विकल्प दिखेगा। (नीचे फोटो में उदारहण दिया गया है।) आपको jamabandi nakal ऑप्टिन पर क्लिक करना है। जमाबंदी नक़ल पर क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा। यहां नक़ल निकलने के लिए कहीं विकल्प मिलेंगे। जैसे – ऑनर का नाम द्वारा, खेवट द्वारा, खसरा सर्वे द्वारा, by mutation आदि।

bhulekh haryana

स्टेप तीन। जिला, तहसील, गांव व जमाबंदी वर्ष का विवरण भरना।

जिले का चयन – नक़ल कौन से विवरण द्वारा (ऑनर का नाम द्वारा, खेवट द्वारा, खसरा सर्वे द्वारा, by mutation) भरनी है, विकल्प चुनने के बाद अब आपको अब आपको नीचे दिए गए district विकल्प पर क्लिक करना है। डिस्ट्रिक विकल्प पर जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपको नीचे की तरफ हरियाणा के सभी जिलों की सूची खुलेगी। यहां से आपको अपने जिले का चयन करना है।

तहसील / सब तहसील का चयन: अपने जिले का चयन करने के बाद अब आपको दूसरा ऑप्शन आपके जिले की सभी तहसील / सब तहसील की सूची देखने को मिलेगी। अब यहां पर आपको अपनी तहसील को चुनना है।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश भूलेख

जमाबंदी वर्ष का चयन : जिला व तहसील का चयन करने के बाद अब आपको जमाबंदी वर्ष को चुनना है। आप जमाबंदी विकल्प के दायिने कोने पर आपको क्लीक करना है, क्लिक करते ही आपको जमाबंदी वर्ष की सूची दिखाई देगी। आपको जिस भी जमाबंदी का अपना भूमि रिकॉर्ड देखना उस पर क्लिक करें।

Select Malik विकल्प को चुनना : जमाबंदी वर्ष को चुनने के बाद आपको मालिक का चयन करना है। आपको अपने जमीन के मालिक (केंद्र सरकार, राज्य सरकार, प्रांतीय सरकार व ग्राम पंचायत आदि) को चुनना है।

bhulekh haryana

मालिक के नाम पर क्लिक करने के बाद आपके सामने पूरा विवरण आ जायेगा। अब यहां पर आपको कॉपी बटन को दबाना है। अब कॉपी बटन दबाने से आपके ऑनलाइन डॉक्यूमेंट डाउनलोड कर सकते है। इसका आप अब प्रिंट भी निकल सकते है।

ये भी पढ़ें- झारखण्ड भूलेख

हरियाणा जमाबंदी पोर्टल पर खतौनी व हिस्सा नंबर ऑनलाइन कैसे डाउनलोड करें?

1 – हरियाणा जमाबंदी लैंड पोर्टल पर खतौनी व हिस्सा नंबर ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए आप पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट जाएँ। होम पर पर आपको पेज पर आपको कहीं विकल्प दिखाई देंगे।

bhulekh haryana

2- होम पेज पर दिए गए कहीं विकल्पों में आपको query विकल्प को चुनना है। query option पर जब आप क्लिक करेंगे तो आपको एक लिस्ट दिखाई देगी। इस लिस्ट में से आपको owner details विकल्प पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही आप अगले पेज पर आ जायेंगे।

3- अब आप एक नए पेज पर आ गए है। यहां आपको जिला, तहसील व गांव को चुनना है। अब आपको नीचे फोटो में दिए गए कुछ और विकल्प मिलेंगे। जैसे – Owner Details, Kashatkar Details, Makbuja Details, Total Land, Irrigation Details, Majrua Land Details, Gair Majrua, Land Details, Khewat/Khatoni Details आदि विकल्प मिलेंगे। आपको जिसका भी विवरण जानना है,

bhulekh haryana

4- आप यहां पर खतौनी निकलने के लिए Khewat/Khatoni विकल्प को चुने। विकल्प सुनते ही आप अगले पेज पर आ जायेंगें। अगले पेज पर आपको खेवट या खतौनी में से एक विकल्प को चुनना है। उसके बाद खतौनी संख्या के विकल्प को चुनना है, एवं सबमिट बटन को दबा दें।

bhulekh haryana

5- अब आपके सामने उस खतौनी संख्या, खसरा संख्या, सिंचाई का प्रकार व एरिया आदि का विवरण आ जायेगा।

इस प्रकार आप अपना हरियाणा भूमि रिकॉर्ड पोर्टल से अन्य दस्तावेजों को डाउनलोड कर सकते है। आपको केवल ऊपर दिए गए इन्ही स्टेप्स को फॉलो करना होगा। सभी विवरण आप आसानी से देख व डाउनलोड कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें- राजस्थान अपना खाता पोर्टल

हरियाणा जमाबंदी पोर्टल पर कौन-कौन से डाक्यूमेंट्स को ऑनलाइन देखा जा सकता है?

हरियाणा भूलेख जमाबंदी पोर्टल पर Owner Details, Kashatkar Details, Makbuja Details, Total Land, Irrigation Details, Majrua Land Details, Gair Majrua, Land Details, Khewat/Khatoni Details आदि दस्तावेजों को ऑनलाइन देखा जा सकता है।

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!