मेरी फसल मेरा ब्यौरा – 2022 | Meri Fasal Mera Byora @fasal.haryana.gov.in | mfmb online Registration कैसे करें?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा गेट पास | मेरी फसल मेरा ब्यौरा की लिस्ट 2021 | मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्टेटस | meri fasal mera byora registration | मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल हरियाणा | मेरी फसल मेरा ब्यौरा | registration check 2022 |

मेरी फसल मेरी योजना हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए शुरू की है। राज्य सरकार ने राज्य के किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए इसे शुरू किया गया है। Meri fasal mera byora yojana 2022 क्या है? इसके क्या लाभ है ? इसके बारे में हम इस आर्टिकल में विस्तार से जानेंगे।

विषय सूची

मेरी फसल मेरा ब्यौरा (MFMB) 2022

हरियाणा सरकार द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल किसान के लिए शुरू किया है। इस पोर्टल पर किसानों से संबधित कहीं विवरण उपलब्ध करवाए गए है। इस पोर्टल पर किसानों के फसल का बिक्री हेतू पंजीकरण, बुहाई व कटाई हेतु सब्सिडी व सरकार द्वारा दिया जाने वाला अन्य कोई भी अनुदान आदि को इस पोर्टल के माध्यम से ही क्रियान्वित किया जाता है। इस पोर्टल का एक मुख्य कार्य फसल का पंजीकरण करवाकर सरकारी मूल्य (msp) पर फसल को बेचना है। यह केंद्र सरकार के न्यूनतम समर्थन मूल्य – msp (सरकार द्वारा तय किया गया एक निश्चित न्यूनतम मूल्य) प्रणाली की तरह काम करती है।

meri fasal mera byora

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के माध्यम किसान अपने फसल की बुहाई के समय ही फसल पंजीकरण करवा सकते है। फसल की कटाई होने पर किसानों की फसल सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाती है। नोट – सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष सभी फसलों के लिए एक न्यूनतम फिक्स (न्यूनतम समर्थन मूल्य) मूल्य तय किया जाता है। इसे ही न्यूनतम समर्थन मूल्य कहते है।

इसके अलावा फसल हरियाणा पोर्टल पर किसानो को अन्य कहीं सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाती है। बुहाई एवं कटाई के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी इसी पोर्टल के माध्यम से की जाती है। ऑनलाइन फसल पंजीकरण के समय किसानो से कहीं जानकारियां मांगी जाती है। जिसका सरकार के पास राज्य के किसानो से संबधित डेटा एकत्रित हो जाता है। इससे सरकार द्वारा किसानो दी जाने वाली कोई भी सरकारी योजना को किसानो तक पहुँचाने में आसानी होती है।

किसानो को बीज सब्सिडी देनी हो या अन्य कोई भी अनुदान। सरकार अनुदान या लाभ की राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर करती है। मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के माध्यम से किसान और सरकार ऑनलाइन एक ही प्लेटफार्म पर आ गए है। इससे सरकार व किसान दोनों को लाभ हो रहा है।

हरियाणा ई-खरीद पोर्टल

सरकार द्वारा इसे सिंगल विंडो पोर्टल के रूप में विकसित किया गया है। इसकी आधिकारिक वेबसाइट fasal.haryana.gov.in है। जब आप इस वेबसाइट पर विजिट करेंगे, तो आप उन सभी विकल्पों को एक्सेस कर पाएंगे जिनकी आपको आवश्यकता है। इस योजना से सरकार को कोई भी योजना को ग्राउंड लेवल पर पहुँचाना बहुत आसान हो गया है। इसके साथ ही किसानों को बेवजह तहसीलों के चक्कर लगाने पड़ते थे। उस समस्या से भी निजात मिल गयी है। 

किसान पोर्टल हरियाणा के लाभ -2022

Kisan haryana portal किसानों के लिए संजीविनी की तरह है। इसके द्वारा किसानों को एक मंच पर सभी लाभ का प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा फ़िलहाल गेहू खरीद के लिए meri fasal mera byora portal के माध्यम से हर दिन 1.5 मिलियन मीट्रिक टन गेहू को सरकार द्वारा खरीदने का प्रस्ताव पास किया है। मुख्यमंत्री द्वारा फसल ब्यौरा पोर्टल को सम्बोधित करते हुए ये सब कहा गया था। किसानों को कोई भी सरकार अनुदान प्राप्त करने के लिए इस पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। किसानों को इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने से सरकार द्वारा दिए जाने वाले कोई भी लाभ दिए जायेंगे।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • प्राकृतिक आपदा के समय कोई भी क्षति होने के स्थिति में इसी पोर्टल के माध्यम से लाभ प्राप्त किया जा सकता है। 
  • आप यदि हरियाणा के किसान है, तो आपको कोई भी सरकारी अनुदान के लिए मेरी फसल मेरी योजना में रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद ही आप इसके लिए पात्र होंगे। 
  • किसान को दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सब्सिडी जैसे – खाद खरीदने, बीज खरीद, कृषि उपकरण खरीदने या कृषि ऋण पर दी जाने वाली सब्सिडी हो। ये सभी सब्सिडी तभी दी जाएगी। यदि आपका किसान पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन हो। 
  • किसान अपनी फसल का ऑनलाइन ब्यौरा दर्ज करवाएंगे। जिससे सरकार को फसल खरीद के समय कोई परेशानी नहीं होगी, सरकार आसानी से अनाज खरीद कर पायेगी। इससे सरकार व किसान दोनों को फायदा होगा।
  • फसल संबधित सभी ब्यौरा पोर्टल पर देना होता है, जिसमें फसल की बुहाई, कटाई का समय देने से फसल की खरीद आसान कर देता है।

Meri fasal mera byora 2021-2022 Overview

योजना का नाम मेरी फसल मेरा ब्यौरा। 
कब शुरू हुई 2020
किसने शुरू की मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
आधिकारिक वेबसाइट Meri fasal mera byora
लाभार्थी हरियाणा के किसान
StatusActive
टोल फ्री नंबर 1800 180 2117 / 1800 180 2060
वर्तमान स्थिति Active

किसान फसल योजना हेतु पात्रता -2022

जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गयी है। हरियाणा सरकार द्वारा इसके लिए पात्रता निर्धारित की है।

  • आवेदक हरियाणा का किसान होना चाहिए। 
  • आधार कार्ड।
  • पेन कार्ड।
  • मोबाइल नंबर।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।
  • किसान की जमीन हरियाणा के नक़्शे पर आती हो। 

मेरी फसल मेरा ब्यौरा के तहत दी जाने वाली सेवाएं 

Meri Fasal Mera Byora योजना हरियाणा सरकार द्वारा शुरू किया गया एक पोर्टल है, यहां पर एक ही प्लेटफार्म पर कहीं सारी सेवाएं एकसाथ उपलब्ध कराई जाती है। जो निम्न है।

  • किसान का पंजीकरण करना। 
  • फसल का पंजीकरण मेरी फसल मेरा ब्योरा 2021 
  • खेत या जमीन का विवरण। 
  • हरियाणा राज्य में किसानों द्वारा बोई जाने वाली सभी फसलों का विवरण। 
  • फसल की बुवाई के समय की जानकारी व बाजार में कब आएगी इसकी जानकारी। 
  • किसान द्वारा फसल खरीदने और बेचने की जानकारी। 
  • फसल बेचने के बाद भुगतान हुआ है या नहीं इसकी जानकारी। 
  • किसानों को बीज, कृषि ऋण व उर्वरक के वितरण की जानकारी। 
  • पड़ोसी राज्य के ऐसे किसान जिनकी जमीन हरियाणा राज्य में आती है, उनका पंजीकरण। 
  • बैंक विवरण की जानकारी आदि। 
(कृषि ऋण) किसान क्रेडिट कार्ड कैसे मिलेगा?

मेरी फसल मेरा ब्योरा का उद्देश्य

  • किसानों के लिए सभी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता एवं किसी भी समस्या का निवारण एक ही स्थान पर उपलब्ध कराने का अनूठा प्रयास करना।
  • कृषि एवं किसानों से संबंधित रिपोर्ट समय से प्रदान जारी करना।
  • किसानों को बीज, कृषि उपकरण, कृषि ऋण व भोजन सब्सिडी समय से प्रदान करने का प्रयास।
  • फसल ब्यौरा पोर्टल का उद्देश्य यह भी है कि बुवाई का समय व बाजार से संबंधित विवरण एक पोर्टल के माध्यम से उपलब्ध कराना।
  • इस पोर्टल के माध्यम से प्राकृतिक आपदाओं के दौरान सहायता प्रदान करने के लिए सरकार के पास डेटा उपलब्ध रहेगा। 
  • इसके माध्यम से किसान भाइयों को एक ही स्थान पर सभी सरकारी सेवाओं व सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी व सभी समस्यायों का निवारण के लिए एक मंच प्रदान करना।
  • fasal haryana portal द्वारा किसानों के लिए कृषि संबंधी आंकड़े समय पर उपलब्ध कराना भी है।
  • meri fasal mera byora द्वारा किसान घर बैठे फसलों और भूमि का पंजीकरण बड़े आसानी से करवा सकते है।
  • fasal haryana portal कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) और अटल सेवा केंद्र द्वारा भी ऑनलाइन डेटा फीडिंग का काम किया जा सकता है। जिससे कुछ लोगो को रोजगार उपलब्ध करवाना है। 
  • फसल हरियाणा पोर्टल पर होने वाली कोई भी खरीद और फसल भुगतान की जानकारी आपके रेजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मेसेज के द्वारा दी जाएगी। इसीलिए आप यह सुनिश्चित कर ले कि वही नंबर रजिस्टर करवाए जो आपके पास चालू है। दूसरा आपकी खाते संबधी जानकारी भी इसी नंबर द्वारा बदली जा सकती है।
  • सरकार की मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पोर्टल बनाने की मुख्य वजह किसानों को उर्वरक, बीज व खेती के लोन को अधिक पारदर्शी व सरल बनाना है।
  • योजना के तहत सरकार फसल बुवाई के समय और बाजार की जानकारी भी देगी।
  • फसल मेरा ब्योरा योजना 2021 का उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के दौरान किसानों को सही समय पर सहायता प्रदान करना भी है।

महत्वपूर्ण लिंक

फसल पंजीकरण (ekharid Haryana)यहां क्लिक करें

हरियाणा सरकार कराएगी राज्य के किसानो के जमीन की मैपिंग

हरियाणा सरकार का राज्य के सभी किसानो के कृषि योग्य भूमि की मैपिंग करवाने का प्लान है। इससे किसानों को कई सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। किसानों को मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। रजिस्ट्रेशन करने के बाद किसानों को मंडी जाने का समय भी तय किया जायेगा। किसानों के लिए मंडी में कहीं केंद्र बनवाये जायेंगे। किसानों को इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसल बेचने का लाभ मिल पायेगा। किसानों को msp.पर फसल बेचने के साथ- साथ मैपिंग से अन्य लाभ भी प्राप्त होंगे।

इस पोर्टल पर हरियाणा सरकार की अन्य योजनाएं जैसे डायरेक्ट सीड राइस, भावान्तर भरपाई योजना, मेरा पानी मेरी विरासत आदि सभी योजनाओं के लिए एक सिंगल विंडो प्लेटफार्म बन गया है। इस योजना को लाने से हरियाणा के किसानो को ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लाना है। यह पोर्टल पर सरकार व किसान दोनों के लिए उपयोगी साबित होगा। इस पोर्टल के माध्यम से हरियाणा सरकार को किसानों को दिया जाने वाला कोई भी लाभ देने में आसानी होगी। फिर चाहे बीज की सब्सिडी देनी हो हो या अन्य कोई भी योजना को किसानों तक पहुंचना हो।

इस प्रकार कृषि भूमि की मैपिंग से किसानों व सरकार दोनों को लाभ होगा। क्यूंकि इस प्लेटफार्म पर किसान और सरकार दोनों है। सरकार बड़े आसानी से राज्य के किसानों को लायी जाने वाली योजना को आसानी से जमीन में उतार सकती है। msp मूल्यों पर बेचीं जाने वाली फसलों को बिचोलियो से मुफ़्ती मिल जाएगी किसानो द्वारा बेचीं जाने वाली फसल का मूल्य सीधे किसानो के खातों में आ जायगा।

ई खरीद पोर्टल पंजीकरण कैसे करें ?

यदि आप अपनी फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सीधे सरकार को बेचना चाहते है, तो आपको इसके लिए E Kharid पोर्टल पर जाकर आपको फसल का ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आपके पास मोबाइल नंबर एवं अपने जमीन का विवरण होना आवश्यक है।

meri fasal e kharid
  • e kharid पंजीकरण के लिए आप e-kharid की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये। इसके बाद e-kharid विकल्प पर क्लीक करें।
  • ई खरीद पर क्लिक करते ही आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा। सबसे पहले आपसे मोबाइल नंबर, आधार नंबर या हरियाणा परिवार आईडी संख्या माँगा जायेगा।
  • तीनो में से जो भी आपके पास उपलब्ध हो आप उसे दर्ज करें। मोबाइल संख्या डालने के बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक पासवर्ड (otp) आएगा। इस नंबर को आप वहां पर दिए गए बॉक्स में भरकर सत्यापित कर दें।
  • otp सत्यापित होने के बाद आपके सामने फॉर्म खुल जायेगा।
  • आप फॉर्म में अपनी व्यक्तिगत डिटेल्स, अपने खेत की जानकारी, फसल का विवरण आदि सभी भरने के बाद सबमिट कर दें।
  • सबमिट करने के बाद आपको एक रसीद प्राप्त होगी। इसे प्रिंट कर ले या उसे अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर सेव कर लें।
  • ये रसीद आप जब बाद में सरकारी गोदाम में गेहू (अनाज) बेचने जायेगे तब मांगी जाएगी। इस प्रकार आपके रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

फसल हरियाणा पोर्टल पर रबी बीमा 2022

किसान साल भर में मुख्यतः दो फसलें करता है, रवि और खरीफ। खरीफ की फैसला बरसात के मौसम में बोई जाती है, जबकि रबी की फसल नवंबर से लेकर जनवरी तक बोई जाती है। वर्त्तमान में यदि किसी भी किसान भाई ने रवि सीजन के लिए फसल की बुहाई की है, तो वह अपनी फसल का बीमा करवा सकता है। बीमा कवर होने से प्राकृतिक आपदा या अन्य कारणों से यदि आपकी फसल ख़राब हो जाती है तो आपको बीमा कंपनी द्वारा बीमा क्लेम दिया जाता है। रवी सीजन के लिए लगभग सभी फसलों के लिए करवा सकते है। बीमा की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2021 है।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल डेटा का सत्यापन

किसान जब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाते है तो किसानो का यह देता कहीं विभागों से होकर गुजरता है। किसानो के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया सबसे पहले कृषि विभाग द्वारा फसल का सत्यापन किया जाता है, एवं राजस्व विभाग द्वारा ई गिरदावरी एवं हरियाणा अंतरिक्ष उपयोग केंद्र (हरसेक) द्वारा सेटेलाइट इमेजरी द्वारा सत्यापित किया जाता है। राज्य सरकार द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल को बड़ा पारदर्शी बनाने का प्रयास किया गया है। इसके अलावा यदि किसी डेटा में बिसंगतिया पायी जाती है। तो तहसील स्तर के अधिकारी / कर्मचारियों को सत्यापन हेतु भेजा जाता है।

ये भी पढ़ें – किसान पेंशन योजना क्या है ?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे 2021-2022

मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हरयाणा : सरकार द्वारा फसल हरियाणा पोर्टल को किसानों को लाभ पहुँचाने के लिए बनाया गया है।हमारे देश का किसान ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं होने के कारण उनके दिमाग में कहीं सवाल आते है जैसे – ‘किसान पंजीकरण’ कैसे कर सकते है? फसल पंजीकरण हरियाणा 2022 कैसे करें? या फसल पंजीकरण कैसे चेक करें आदि। यदि आपके मन में भी यही सवाल है, तो आपकी समस्या को देखते हुए हमने आपको नीचे स्टेप बाई स्टेप बताया है कि खरीफ या रवि फसल ऑनलाइन पंजीकरण कैसे किया जाता है, इसके बारे में नीचे स्टेप बाई स्टेप बताया गया है।

  • फसल हरियाणा पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए आपको सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
मेरी फसल 2
  • मुख्य पृष्ठ पर जाने के बाद आपको दो विकल्प (ऑप्शन) दिखाई देंगे, पहला किसान लॉगिन और दूसरा विभागीय लॉगिन। यहां पर आपको किसान लॉगिन ऑप्शन का चयन करना है। किसान लॉगिन पर क्लिक करने के बाद आप नए पेज पर आ जायेंगे।
  • किसान पंजीकरण लॉगिन पर क्लिक करने के बाद नए पेज पर आपको कहीं सारे विकल्प मिलेंगे, जैसे -किसान पंजीकरण, पंजीकरण प्रिंट करना, बैंक विवरण बदलना, पडोसी राज्य के किसानों का पंजीकरण जिनकी जमीन हरियाणा में स्थित है आदि विकल्प मिलेंगे।
मेरी फसल 3
  • यहां पर आपको किसान पंजीकरण विकल्प पर क्लिप करना है।
  • किसान पंजीकरण पर क्लिक करने के बाद आप नए पेज किसान लॉगिन फॉर्म पर आ जाता है।
  • यहां आपको मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा, नंबर डालने के बाद कैप्चा भरें एवं सबमिट बटन को प्रेस करें।
मेरी फसल login
  • इस प्रकार आपके सामने पंजीकरण फार्म खुल जायेगा। अपना पंजीकरण फार्म सावधानीपूर्वक भरने के बाद सबमिट कर दें।
  • इस प्रकार आपके पंजीकरण फार्म कम्प्लीट हो जायेगा।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा का आवेदन फॉर्म को प्रिंट कैसे करे?

हरियाणा के किसान जिन्होंने mfmb scheme के तहत पंजीकरण करवा लिया है, और अब वह उन्हें प्रिंट करना चाहते है, तो केवल कुछ स्टेप्स को फॉलो करके प्रिंट कर सकते है।

  • एप्लीकेशन फॉर्म प्रिंट करने के लिए किसान भाइयो आपको सबसे पहले मेरी फसल मेरा ब्यौरा की आधिकारिक वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर जाये और पंजीकरण प्रिंट करें विकल्प पर आपको क्लीक करना होगा।
meri fasal mera byora application
  • प्रिंट विकल्प पर क्लिक करने के बाद आप नए पेज पर आ जायेंगे। यहां पर आपको कुछ विवरण भरना होगा, जैसे – फसल सीजन, नाम मोबाइल नंबर व बैंक खाता संख्या डालना होगा।
meri fasal mera byora application print
  • पूछा गया सभी विवरण भरने के बाद आपको सामने नीले रंग में दिए गए प्रिंट बटन को दबाना होगा। इस प्रकार आप अपना आवेदन फार्म प्रिंट कर सकते है।

सीएससी में जाकर कर सकते है रजिस्ट्रेशन ?

Register with Common Service Center (csc): वे किसान जो स्वयं अपना पंजीकरण मेरी फ़सान मेरा ब्यौरा वेबसाइट करने में समर्थ नहीं है, ऐसे किसान अपने फसल का रजिस्ट्रेशन अपने नजदीकी csc केंद्र पर जाकर भी करवा सकते है। इसके लिए उन्हें अपने जरुरी दस्तावेज साथ में लेकर जाना होगा। दस्तावेजों में उन्हें अपने जमीन के कागज, आधार कार्ड फोटो आदि साथ में लेकर जाना होगा। इस प्रकार किसान अपना पंजीकरण निशुल्क करवा सकते है। कॉमन सर्विस सेण्टर से आपको रसीद प्राप्त होगी जिसे आपको अपने पास सुरक्षित रखना है।

किसान शिकायत कैसे करें ?

meri fasal mera byora से संबधित यदि आपको कोई समस्या आ रही है तो राज्य सरकार द्वारा इसके लिए कॉल सेंटर बनाये हुए है। आप यहां पर अपने कंप्लेंट दर्ज करवा सकते है। यहां से आपको निश्चित ही मदद मिलेगी। यहां पर किसानो को कहीं प्रकार की जानकारियां प्राप्त होगी। इसके अलावा आप टोल फ्री नंबर 1800 180 2117 / 1800 180 2060 पर भी कॉल कर सकते है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहू के लिए ऑनलाइन पंजीकरण अंतिम तिथि 15 फरवरी 2022 तक बढ़ाई 

Fasal panjikaran last date : हरियाणा के किसान भाइयो ने यदि अभी तक अपना फसल पंजीकरण नहीं करवाया है, तो आपके लिए अच्छी खबर है। फसल पंजीकरण की अंतिम तिथि की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2022 को थी। अब इसे 15 फरवरी 2022 तक बढ़ा दी है। आप अपना गेहू का पंजीकरण समय से पहले अवश्य करवा लें। 31 जनवरी तक कहीं किसानों का फसल पंजीकरण नहीं हो पाया था। यही कारण रहा कि सरकार द्वारा पंजीकरण की तिथि आगे बढ़ाया गया है। इसीलिए अब आप अपनी फसल का पंजीकरण 15 फरवरी से पहले ही करवाना सुनिश्चित कर लें।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहूं खरीद रजिस्ट्रेशन 2022 Haryana रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सरकार के इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए आप fasal.haryana.gov.in पर जाइये वहां आप गेहू (रबी 2021-2022) के लिए ऑनलाइन किसान फसल पंजीकरण आसानी से कर सकते है। किसानों को अंतिम तिथि पास में आने से पहले ही आवेदन कर लेना चाहिए। अंतिम तिथि नजदीक आने पर आपको पंजीकरण करने में समस्या आ सकती है। पिछले कुछ दिनों से ऐसी ही समस्या आ रही थी। अब पोर्टल पर दुबारा पंजीकरण शुरू हो गए है। ऐसे में इच्छुक किसान अपना पंजीकरण समय से कर लें।

रबी सीजन में गेहू की फसल आने में अभी काफी समय है। ऐसे में किसान यदि अभी से इसका पंजीकरण करवा लेते है तो उन्हें बाद में गेहू बेचने में दिक्कत नहीं आएगी। यदि आपको पंजीकरण करवाने में समस्या आती है तो आप कृषि विभाग के अधिकारियो से भी संपर्क कर सकते है। आधिकारिक वेबसाइट पर दिए गए टोल फ्री नंबर पर संपर्क कर सकते है। आप अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र या बैंक पर भी पंजीकरण करवा सकते है।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना क्या है?

हरियाणा सरकार द्वारा किसानों के लिए शुरू की गयी एक योजना है। इसके द्वारा किसानों के लिए एक ही मंच पर सभी योजनाये उपलब्ध कराना है। सरकार का मकसद सभी किसानों के बारे में जानकारी एकत्रित करना है। जिससे सरकारी योजनाओं को किसानों तक आसानी से पहुँचाया जा सके। 

3 thoughts on “मेरी फसल मेरा ब्यौरा – 2022 | Meri Fasal Mera Byora @fasal.haryana.gov.in | mfmb online Registration कैसे करें?”

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!